DA Image
9 अप्रैल, 2020|8:13|IST

अगली स्टोरी

BPSSC दारोगा बहाली परीक्षा में नहीं हुई गड़बड़ी: आयोग

bpssc

बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग के अध्यक्ष सुनीत कुमार ने दावा किया है कि पुलिस अवर निरीक्षक की परीक्षा में कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। आयोग ने पूरी पारदर्शिता के साथ परीक्षा का आयोजन कर परिणाम घोषित किया है। परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से हुई और किसी भी केन्द्र पर प्रश्नपत्र लीक नहीं हुआ था, लेकिन एक साजिश के तहत कुछ परीक्षार्थी सोशल मीडिया पर प्रश्न पत्र लीक होने की अफवाह फैलाकर आंदोलन कर रहे हैं। जबकि उनके पास ऐसा कोई सबूत नहीं है। असफल अभ्यर्थी यह बताएं कि किस मोबाइल नंबर से प्रश्न पत्र लीक हुआ तो उस मोबाइल नंबर की जांचकर कराई जाएगी। 


शनिवार को संवाददाता सम्मलेन में श्री कुमार ने कहा कि पुलिस अवर निरीक्षक की मुख्य परीक्षा अप्रैल में होगी। सितम्बर तक अंतिम परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। आयोग ने पुलिस अवर निरीक्षक (दारोगा), सार्जेंट, सहायक अधीक्षक कारा की बहाली के लिए 2446 रिक्तियां निकाली थी। इसकी प्रारंभिक परीक्षा 22 दिसम्बर को 36 जिलों के 495 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित की गई थी।


आयोग के अध्यक्ष ने बताया कि दो परीक्षा केन्द्रों जैन बाला विश्राम बालिका प्लस टू उच्च विद्यालय आरा एवं दिल्ली पब्लिक स्कूल नवादा पर अभ्यर्थियों द्वारा हंगामा करते हुए परीक्षा का बहिष्कार किया गया था। अभ्यर्थियों का आरोप था कि प्रश्नपत्र लीक हुआ है। संबंधित जिलों के डीएम व एसपी ने परीक्षार्थियों से परीक्षा में बैठने का अनुरोध किया, लेकिन उन्होंने परीक्षा नहीं दी। दोनों जिलों के डीएम ने अपनी रिपोर्ट में में प्रश्नपत्र लीक होने की खबर से साफ इनकार किया। इस परिस्थिति में दोनों परीक्षा केन्द्रों की परीक्षा रद्द करते हुए यहां के अभ्यर्थियों को अयोग्य घोषित कर दिया गया है। जिन परीक्षा केन्द्रों पर कदाचार के मामले सामने आए और अभ्यर्थियों द्वारा सोशल मीडिया पर प्रश्न पत्र वायरल किए गए उन पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। संवाददाता सम्मेलन में आयोग के ओएसडी अशोक कुमार प्रसाद भी शामिल थे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:there is no cheating in BPSSC Inspection recruitment exam says Commission