DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मदरसों में होगी अब TET से शिक्षकों की बहाली

मदरसों में बेहतर तालीम मिले और योग्य शिक्षक आएं, इसके लिए अब शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) का आयोजन किया जायेगा। यानी राज्य के मदरसों में आलिम, फाजिल और मौलवी की बहाली टीईटी के जरिए होगी। बिहार राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष अब्दुल कयूम अंसारी ने मंगलवार को गांधी मैदान स्थित होटल में आयोजित प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मदरसा शिक्षा बोर्ड की ओर से टीईटी लिया जाएगा। इसका नोटिफिकेशन जल्द जारी होगा। टीईटी से शिक्षक नियुक्ति के बाद मदरसों में योग्य शिक्षक बहाल होंगे। मदरसा में भी बेहतर शिक्षा मिलेगी। फिलहाल मदरसा स्तर की कमेटी के द्वारा 1128 मदरसों में 3300 विज्ञान शिक्षक की नियुक्ति मदरसा कमेटी के द्वारा की जाएगी। ये विज्ञान शिक्षक स्नातक उत्तीर्ण होने चाहिए।उन्होंने बताया कि मदरसा बोर्ड का सौ साल पूरे होने पर शताब्दी समारोह का आयोजन बापू सभागार में सात अगस्त को किया जायेगा। इसमें पांच हजार से अधिक मौलवी और शिक्षाविद शामिल होंगे। 

जुलाई के अंत तक बकाया वेतन भुगतान
वहीं, 2016-17, 2017-18 और 2018-19 सत्र के लिए विज्ञान शिक्षकों का बकाया वेतन भुगतान जुलाई के अंत तक कर दिया जायेगा। उन्होंने ईपीएफ पेंशन स्कीम अगले महीने अगस्त से लागू करने की जानकारी दी। पेंशन स्कीम से 15 हजार लोगों को फायदा होगा। इसको लेकर 28 जुलाई को एक बैठक भी आयोजित की जायेगी। 

कंप्यूटर और आपदा प्रबंधन की होगी पढ़ाई 
मदरसों में अब कंप्यूटर और आपदा प्रबंधन की पढ़ाई होगी। बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि पांच करोड़ 63 लाख रुपये बोर्ड के पास है। इससे सभी मदरसों में कम्प्यूटर की खरीदारी की जायेगी। वहीं आपदा प्रबंधन कोर्स शुरू होगा। आपदा प्रबंधन के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण एएन सिन्हा इंस्टीटयूट द्वारा दिया जायेगा। उन्होंने सभी मदरसों में ड्रेस कोड लागू करने की जानकारी दी। 

दिसंबर में वस्तानिया और जनवरी में फोकानियां, मौलवी की परीक्षा 
मदरसा बोर्ड ने परीक्षा कैलेंडर 2020 जारी कर दिया है। परीक्षा कैलेंडर के अनुसार दिसंबर में वस्तानियां (आठवीं) की परीक्षा ली जायेगी। वहीं फोकानियां और मौलवी (10वीं और 12वीं) की परीक्षा 31 जनवरी तक ली जायेगी। इसके बाद मार्च तक रिजल्ट जारी किया जायेगा। 

अपग्रेड होंगे मदरसा 
बोर्ड अध्यक्ष अब्दुल अंसारी ने बताया कि प्रदेश भर में नये मदरसा खोले जायेंगे। वहीं पुराने मदरसों को अपग्रेड किया जायेगा। हर पंचायत में एक वस्तानिया स्तर पर मदरसा और प्रखंड स्तर पर फोकानिया स्तर पर मदरसा, अनुमंडल स्तर पर मौलवी स्तर का मदरसा, जिला स्तर पर आलिम और फाजिल स्तर में अपग्रेड किया जायेगा।

पूर्णिया में खुला क्षेत्रीय कार्यालय 
मदरसा बोर्ड का पहला क्षेत्रीय कार्यालय पूर्णिया में खोला गया है। इसके अधीन पूर्णिया प्रमंडल के चार जिलों अररिया, पूर्णिया, किशनगंज और कटिहार के अतिरिक्त कोसी प्रमंडल के तीन जिलों सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, भागलपुर प्रमंडल के दो जिलों भागलपुर और बांका का काम किया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:TET : now teachers will be appointed in madrassas through teachers eligibility test