DA Image
23 सितम्बर, 2020|1:48|IST

अगली स्टोरी

डीयू 12 कॉलेजों के शिक्षकों ने HC से वेतन दिलाने की गुहार लगाई

du open book exam 2020

दिल्ली सरकार द्वारा वित्त पोषित डीयू के 12 कॉलेजों के शिक्षकों और कर्मचारियों को पिछले चार महीने से वेतन नहीं दिए जाने का मामला अब उच्च न्यायालय पहुंच गया है। दिल्ली विश्वविद्यालय के इन कॉलेजों में कार्यरत शिक्षकों ने मंगलवार को उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल कर वेतन दिलाने की गुहार लगाई है।

अधिवक्ता अशोक अग्रवाल और कुमार उत्कर्ष के माध्यम से दाखिल याचिका में शिक्षकों ने कहा कि शिक्षकों और गैर शिक्षण कार्य में लगे कर्मचारियों को मई, जून, जुलाई और अगस्त माह का वेतन व भत्ता नहीं दिया गया है। याचिका दाखिल करने वाले आठ शिक्षकों ने कहा कि उन्होंने दिल्ली सरकार को पत्र लिखकर वेतन का भुगतान करने के लिए धन जारी करने का आग्रह भी किया। याचिका के अनुसार 12 कॉलेजों में कार्यरत 1500 शिक्षकों और गैर-शिक्षण कार्यों में लगे कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा रहा है। अधिवक्ता अग्रवाल ने याचिका में वेतन नहीं दिए जाने को दिल्ली विश्वविद्यालय अधिनियम और संविधान के अनुच्छेद 14 व 21 का उल्लंघन बताया।

अधिवक्ता अग्रवाल ने याचिका में शिक्षकों और कर्मचारियों को समय से वेतन नहीं दिए जाने को जीवन जीने के अधिकार और आजीविका के अधिकार का उल्लंघन बताया है। याचिका में सरकार और सक्षम प्राधिकार को शिक्षकों व कर्मचारियों को वेतन भुगतान का आदेश देने की मांग की है। साथ ही भविष्य में नियमित तौर पर वेतन देने का आदेश देने की मांग की गई है। इस याचिका पर गुरुवार को सुनवाई होने की संभावना है।

इन कॉलेजों के शिक्षकों को नहीं मिला है वेतन
डीयू के जिन 12 कॉलेजों के शिक्षकों को वेतन नहीं मिल रहा है, उनमें आचार्य नरेंद्र देव कॉलेज, डॉ. भीम राव अंबेडकर कॉलेज, भास्कराचार्य कॉलेज ऑफ एप्लाइड साइंसेज, भगिनी निवेदिता कॉलेज, दीनदयाल उपाध्याय कॉलेज, अदिति महाविद्यालय महिला कॉलेज, इंदिरा गांधी शारीरिक शिक्षा एवं खेल विज्ञान संस्थान, केशव महाविद्यालय, महाराजा अग्रसेन कॉलेज (डीयू), महर्षि वाल्मीकि कॉलेज ऑफ एजुकेशन, शहीद राजगुरु कॉलेज ऑफ एप्लाइड साइंसेज फॉर वुमेन और शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज शमिल है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Teachers of DU12 colleges plead for salary from HC