ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरतमिलनाडु सरकार: स्कूलों में बांटी गई खराब क्वालिटी वाली एजुकेशनल किट

तमिलनाडु सरकार: स्कूलों में बांटी गई खराब क्वालिटी वाली एजुकेशनल किट

तमिलनाडु सरकार की सरकारी स्कूलों के छात्रों के लिए मुफ्त शैक्षिक किट (educational kits) में खराब गुणवत्ता वाले उत्पादों की आपूर्ति के बाद शिकायत आई है। इसमें अनुपयुक्त वर्दी, जूते और यहां तक ​​कि खराब

तमिलनाडु सरकार:  स्कूलों में बांटी गई खराब क्वालिटी वाली एजुकेशनल किट
Priyanka Sharmaएजेंसी,नई दिल्लीMon, 26 Sep 2022 09:25 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

तमिलनाडु सरकार की सरकारी स्कूलों के छात्रों के लिए मुफ्त शैक्षिक किट (educational kits) में खराब गुणवत्ता वाले उत्पादों की आपूर्ति के बाद शिकायत आई है। इसमें अनुपयुक्त वर्दी, जूते और यहां तक ​​कि खराब गुणवत्ता वाले ज्योमेट्री बॉक्स, नोटबुक और स्कूल बैग भी शामिल हैं।

बांटे गए उत्पादों की गुणवत्ता के अलावा, कई जगहों पर छात्रों को अभी तक शैक्षिक किट  नहीं मिली हैं और छात्रों को जूते और नई वर्दी खुद ही खरीदनी पड़ रही है। राज्य में स्कूलों को फिर से खोलने के तीन महीने बीत चुके हैं, तमिलनाडु टेक्स्ट बुक एंड एजुकेशनल सर्विस कॉर्पोरेशन की ओर से सुस्ती के कारण कई जगहों पर छात्रों को किट नहीं मिल रही है।

पढ़ें- Uttar Pradesh NEET PG Counselling 2022: शुरू हुए रजिस्ट्रेशन, ऐसे भरना है फॉर्म

ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों में, छात्रों को अभी तक उनके शैक्षिक उद्देश्यों के लिए जूते और अन्य आवश्यक वस्तुएं प्राप्त नहीं हुई हैं।

बता दें, मदुरै के एक सरकारी स्कूल के एक शिक्षक ने IANS से बात करते हुए कहा, "आम तौर पर, महामारी से पहले, स्कूलों को फिर से खोलने के भीतर दो सप्ताह में किट वितरित किए जाते थे, लेकिन अब चीजें उलट गई हैं, और कई स्कूलों में, बच्चों को अभी तक नहीं मिला है। मुफ्त शैक्षिक किट प्राप्त करें। इससे छात्र नई वर्दी पहनने, नए उपकरण बॉक्स का उपयोग करने और नए स्कूल बैग ले जाने में सक्षम नहीं होंगे।"

हालांकि, पाठ्यपुस्तक और शैक्षिक सेवा निगम के अधिकारियों ने IANS को बताया कि यह पहली बार नहीं है जब वितरण में देरी हुई है। उल्लेखनीय है कि पाठ्यपुस्तक एवं शैक्षिक सेवा निगम वर्ष 2013 से प्रदेश में नि:शुल्क शैक्षिक किट का वितरण कर रहा है। पाठ्य पुस्तकों, नोटबुक, यूनिफॉर्म, स्कूल बैग, क्रेयॉन, ज्योमेट्री बॉक्स, जूते आदि की खरीद का जिम्मा निगम के पास है।

 

 

epaper