ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरNEET के एक एग्जाम सेंटर से इतने टॉपर कैसे, 719 या 718 मार्क्स असंभव, खत्म हो NTA: छात्र संगठन

NEET के एक एग्जाम सेंटर से इतने टॉपर कैसे, 719 या 718 मार्क्स असंभव, खत्म हो NTA: छात्र संगठन

छात्र संगठनों ने अब एनटीए पर सवाल उठाते हुए एसएफआई ने इस संस्था को ही समाप्त करने की मांग की है। एनएसयूआई ने कहा कि नीट परीक्षा के स्थापित पैटर्न के अनुसार, उम्मीदवारों के लिए 719 या 718 अंक प्राप्त क

NEET के एक एग्जाम सेंटर से इतने टॉपर कैसे, 719 या 718 मार्क्स असंभव, खत्म हो NTA: छात्र संगठन
Pankaj Vijayप्रमुख संवाददाता,नई दिल्लीSat, 08 Jun 2024 08:32 AM
ऐप पर पढ़ें

छात्र संगठनों ने अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) पर सवाल उठाते हुए एसएफआई ने इस संस्था को ही समाप्त करने की मांग की है। एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष वरुण चौधरी ने कहा कि नीट परीक्षा के स्थापित पैटर्न के अनुसार, उम्मीदवारों के लिए 719 या 718 अंक प्राप्त करना अकल्पनीय है। ऐसे स्कोर जारी करना संभावित हेरफेर या विसंगतियों का संकेत देता है। इसके अतिरिक्त एक ही परीक्षा केंद्र से पांच से अधिक शीर्ष रैंकर्स का होना संदिग्ध है और इसकी गहन जांच की आवश्यकता है। जेईई, नीट, नेट और सीयूईटी जैसी महत्वपूर्ण परीक्षाओं को एनटीए जैसे निजी संगठन को सौंपकर सरकार ने शिक्षा के निजीकरण को प्राथमिकता दी है।

छात्र बोले- परीक्षा फिर से आयोजित कराई जाए
नीट परीक्षा में गड़बड़ी की आशंका के बीच छात्रों ने कहा कि फिर से पारदर्शी तरीके से परीक्षा आयोजित हो। साथ ही इस मामले की जांच हो कि कैसे इतनी बड़ी संख्या में लोगों को अधिक नंबर मिले हैं। इसको लेकर सोशल मीडिया पर भी छात्र लगातार पोस्ट कर रहे हैं। शिक्षक भी सवाल उठा रहे हैं। सोशल मीडिया मंच एक्स पर यूजर मनीष यादव ने लिखा, इस परीक्षा के आवेदन के लिए मोटी फीस ली जाती है, लेकिन ठीक से परीक्षा न कराकर छात्रों को परेशान किया जा रहा है। 

NEET : नीट में 720 में से 633 अंक लाने वाला छात्र पहुंचा कोर्ट, नेगेटिव मार्किंग के डर से नहीं दिया था विवादास्पद प्रश्न का उत्तर

एक अन्य यूजर समर्थ जैन का कहना है कि एनटीए की गड़बड़ी के कारण हजारों छात्रों का इस बार सरकारी संस्थानों में एमबीबीएस में दाखिला नहीं हो पाएगा।

Virtual Counsellor