DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरशिक्षण सहायकों की भर्ती प्रक्रिया नए सिरे से शुरू करेगा सौराष्ट्र विश्वविद्यालय

शिक्षण सहायकों की भर्ती प्रक्रिया नए सिरे से शुरू करेगा सौराष्ट्र विश्वविद्यालय

लाइव हिन्दुस्तान टीम,अहमदाबादAlakha Singh
Sun, 17 Oct 2021 05:11 PM
शिक्षण सहायकों की भर्ती प्रक्रिया नए सिरे से शुरू करेगा सौराष्ट्र विश्वविद्यालय

गुजरात में सौराष्ट्र विश्वविद्यालय (एसयू) में शिक्षण सहायकों की भर्ती में पक्षपात के आरोपों के बीच अधिकारियों ने पूरी प्रक्रिया नए सिरे से करने शुरू करने का फैसला किया है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। एक दिन पहले, कांग्रेस की छात्र शाखा भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने दावा किया था कि एसयू सिंडिकेट के भाजपा सदस्यों ने संविदा भर्ती के लिए उम्मीदवारों की सिफारिश करने के सिलसिले में एक सोशल मीडिया ग्रुप बनाया है। 

एनएसयूआई ने मांग की थी कि पूरी प्रक्रिया को नए सिरे से शुरू कर सब कुछ वीडियो रिकॉर्ड किया जाए। कांग्रेस की छात्र शाखा ने दावा किया था कि सौराष्ट्र विश्वविद्यालय के सिंडिकेट के भाजपा सदस्यों के समूह में अनुबंध के आधार पर शिक्षकों की अंतिम भर्ती की खातिर 23 नामों का उम्मीदवारों के रूप में कथित तौर पर उल्लेख है। 

उम्मीदवारों के साक्षात्कार जल्द होने वाले हैं। कुलपति एनएम पिठानी ने रविवार को कहा, ''हमने भर्ती प्रक्रिया नए सिरे से शुरू करने का फैसला किया है।'' उन्होंने कहा कि 78 सफल उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए 29 सितंबर से 12 अक्टूबर के बीच योग्य उम्मीदवारों की एक खुली साक्षात्कार प्रक्रिया आयोजित की गई थी। लेकिन कथित वॉट्सएप ग्रुप पर विवाद को देखते हुए, विश्वविद्यालय ने एक बार फिर प्रक्रिया शुरू करने का फैसला किया है। 

पिठानी ने कहा था कि शिक्षण सहायकों को चुनने के लिए उन्हें किसी से कोई सिफारिश नहीं मिली है। विवाद पर प्रतिक्रिया देते हुए गुजरात के शिक्षा मंत्री जीतू वघानी ने आश्वासन दिया था कि पूरी प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से होगी और चयन योग्यता के आधार पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी उम्मीदवार के साथ गलत व्यवहार नहीं किया जाएगा। 

उन्होंने ट्वीट किया था, ''सौराष्ट्र विश्वविद्यालय में संविदा भर्ती के विवाद के बारे में जानने के बाद मैंने कुलपति से फोन पर बात की। मैंने उन्हें पूरी प्रक्रिया को योग्यता के आधार पर पूरी पारदर्शिता के साथ संचालित करने और यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिया है कि किसी भी उम्मीदवार के साथ गलत व्यवहार न हो। शिक्षा विभाग के अपर सचिव को भी कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।'' 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें