ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरRRC रेलवे भर्ती 2019: नकल माफियाओं ने दी आरआरसी चेयरमैन की हत्या की धमकी, बोले हमारे उम्मीदवार को पास कराओ, ड्राइवर को दिखाया एडमिट कार्ड

RRC रेलवे भर्ती 2019: नकल माफियाओं ने दी आरआरसी चेयरमैन की हत्या की धमकी, बोले हमारे उम्मीदवार को पास कराओ, ड्राइवर को दिखाया एडमिट कार्ड

रेलवे भर्ती प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नकल माफियाओं के निशाने पर हैं। कुछ दिनों से उनका पीछा कर रहे शातिरों ने धमकी दी है कि अगर उनके कंडीडेट को पास नहीं कराया गया तो अंजाम बुरा होगा। अलग-अलग नंबरों से...

RRC रेलवे भर्ती 2019: नकल माफियाओं ने दी आरआरसी चेयरमैन की हत्या की धमकी, बोले हमारे उम्मीदवार को पास कराओ, ड्राइवर को दिखाया एडमिट कार्ड
वरिष्ठ संवाददाता,प्रयागराजMon, 21 Oct 2019 12:56 PM
ऐप पर पढ़ें

रेलवे भर्ती प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नकल माफियाओं के निशाने पर हैं। कुछ दिनों से उनका पीछा कर रहे शातिरों ने धमकी दी है कि अगर उनके कंडीडेट को पास नहीं कराया गया तो अंजाम बुरा होगा। अलग-अलग नंबरों से भर्ती बोर्ड प्रकोष्ठ के अध्यक्ष के चालक को कॉल करके हत्या की धमकी दी है। धूमनगंज पुलिस एफआईआर दर्ज कर सर्विलांस की मदद से शातिरों का पता लगा रही है।

नवाब यूसुफ रोड, सिविल लाइंस में रेलवे भर्ती प्रकोष्ठ का कार्यालय है। प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विवेक प्रकाश रेलवे कॉलोनी, सूबेदारगंज में रहते हैं। उन्होंने एफआईआर दर्ज कराई है कि रेलवे के लेवल एक भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। इनमें कई अभ्यर्थी विभिन्न कारणों से अयोग्य हुए हैं, जिनकी जांच प्रक्रिया विचाराधीन है। इस परीक्षा में नकल माफिया लगे हैं और अनुचित तरीके से दबाव डाल रहे हैं। 15 अक्तूबर को नकल माफिया उनके चालक से कुछ मिले और उनके बारे में जानकारी एकत्र करने की कोशिश की। इसके बाद उनके चालक से कहा कि सेटिंग करके उनके कुछ कंडीडेट को पास करा दिया जाए। चालक को नकल माफियाओं ने कुछ अभ्यर्थियों का एडमिट कार्ड भी मोबाइल में दिखाया और यह भी बताया कि वे रेलवे में कई लोगों की नौकरी लगा चुके हैं।

RRC Group D और RRB NTPC Exam से पहले रेलवे भर्ती बोर्ड ने उठाया ये बड़ा कदम

16 अक्तूबर को एक गाड़ी से नकल माफिया उनके कार्यालय से निकलते ही पीछे लग गए और उनके आवास तक पीछा किया। यह देख उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस उनके आवास पर पहुंच गई। यह देख शातिर भाग निकले। 17 अक्तूबर को शातिरों ने उनके चालक को अलग-अलग नंबरों से कॉल करके धमकी दी और कहा कि अगर कंडीडेट को पास नहीं कराया तो अध्यक्ष की हत्या कर दी जाएगी। रेलवे भर्ती प्रकोष्ठ ने धमकी भरा कॉल मिलने के बाद धूमनगंज थाने में मोबाइल नंबर व गाड़ी नंबर के आधार पर एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस अफसरों ने बताया कि सर्विलांस की मदद से इस रैकेट का पता लगाया जा रहा है।

Virtual Counsellor