REET : रीट रद्द करने की मांग तेज, बीजेपी बोली- संपत्ति पर बुल्डोजर चलाना दिखावा, रासुका भी लगे

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनियां ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर उसकी नीयत साफ नहीं होने का आरोप लगाते हुए कहा है कि उससे अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) मामले...

offline
Pankaj Vijay एजेंसी , भरतपुर अजमेर
Last Modified: Wed, 2 Feb 2022 4:15 PM

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनियां ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर उसकी नीयत साफ नहीं होने का आरोप लगाते हुए कहा है कि उससे अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) मामले में पारदर्शी तरीके से फैसले लेने की उम्मीद नहीं हैं, ऐसे में मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराई जानी चाहिए। डॉ. पूनियां ने भरतपुर में इस मांग को लेकर एवं मंगलवार को जयपुर में प्रदर्शन के दौरान भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर पुलिस लाठीचार्ज के विरोध में कलेक्ट्रेट पर आयोजित धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम में भाग लेने के मौके पर मीडिया से यह बात कही। उन्होंने कहा कि रीट धांधली मामला उजागर होता गया और इस मामले में 35 लोग गिरफ्तार हो चुके और बर्खास्तगी भी हुई लेकिन इसमें और भी नाम लिए जा रहे हैं उन्हें भी बर्खास्त किया जाना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि दिखाने के लिए केवल एक आरोपी की संपत्ति पर बुल्डोजर चलाया लेकिन इस मामले में लिप्त सभी लोगों पर रासुका लगाया जाना और उनकी संपत्ति पर बुल्डोजर चलाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मामले में सरकार की नीयत साफ नहीं हैं। उन्होंने अलवर विमंदित बालिका मामले का जिक्र करते हुए कहा कि इस मामले को ही देख लीजिए और इस सरकार से पारदर्शी तरीके से फैसला लेने की उम्मीद नहीं हैं, ऐसे में रीट मामले की जांच सीबीआई से कराई जानी चाहिए। 

उन्होंने भाजपा के धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम में भाग लिया और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए युवाओं के साथ न्याय करने, किसानों का कर्जा माफ करने एवं प्रदेश में कानून व्यवस्था ठीक करने की मांग की। 

रीट परीक्षा को रद्द कर राजस्थान बोर्ड के बजाए किसी दूसरी एजेंसी से कराया जाए
राजस्थान के अजमेर में प्रदेशव्यापी आह्वान के तहत भाजपा शहर की ओर से रीट 2021 पेपर लीक मामले में सीबीआई जांच की मांग और जयपुर में भाजपा युवा मोर्चा पर पुलिस लाठीचार्ज के विरोध में प्रदर्शन किया गया। अजमेर के इण्डिया मोटर सर्किल चौराहे पर प्रदेश प्रवक्ता तथा अजमेर विधायक अनीता भदेल के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और आक्रोश व्यक्त कर रीट परीक्षा रद्द कर इसकी जांच सीबीआई से कराने की मांग की गई। प्रदर्शन में पूर्व मंत्री एवं विधायक वासुदेव देवनानी ने नारेबाजी की। देवनानी ने रीट परीक्षा को रद्द कर परीक्षा बोर्ड के बजाए किसी दूसरी एजेंसी से कराए जाने की मांग की। प्रदर्शन में शहर अध्यक्ष डॉ. प्रियशील हाडा, पूर्व अध्यक्ष अरविंद यादव, पूर्व नगर सुधार न्यास अध्यक्ष धर्मेश जैन सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

भदेल ने कहा कि रीट मामले में जब तक न्याय नहीं होगा भाजपा का आन्दोलन एवं विरोध जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि रीट परीक्षा पेपर आउट होने और इसमें कांग्रेस समर्थित संगठन राजीव गांधी स्टेडी सर्किल का नाम सामने आने के बाद इसकी उच्च स्तरीय सीबीआई जांच आवश्यक हो गई है ताकि बड़ी मच्छलियां भी सामने आ सके। इसमें कांग्रेस सरकार संदेह के घेरे में है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को इस्तीफा दे देना चाहिए। 

ऐप पर पढ़ें

REET Reet 2021 REET Exam 2021