DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  REET 2021 : रीट परीक्षा तिथि का होने लगा विरोध, 16 लाख अभ्यर्थी रीट और व्याख्याता परीक्षा टकराव से असमंजस में
करियर

REET 2021 : रीट परीक्षा तिथि का होने लगा विरोध, 16 लाख अभ्यर्थी रीट और व्याख्याता परीक्षा टकराव से असमंजस में

एजेंसी,जयपुर Published By: Yogesh Joshi
Thu, 17 Jun 2021 09:55 PM
REET 2021 : रीट परीक्षा तिथि का होने लगा विरोध, 16 लाख अभ्यर्थी रीट और व्याख्याता परीक्षा टकराव से असमंजस में

सरकार ने 26 सितंबर को रीट परीक्षा करवाने की घोषणा की है. इस दौरान ही प्रदेश में राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से 22 सितंबर से 4 अक्टूबर तक आरपीएससी कॉलेज लेक्चरर की परीक्षा का आयोजन होना है. ऐसे में अब दोनों परीक्षाओं में टकराव होना तय है. राज्य भर में रीट परीक्षा में जहां 16 लाख परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं।

जयपुर राज्य सरकार ने रीट परीक्षा तिथि की घोषणा करके लाखों अभ्यर्थियों को खुशखबर तो दे दी लेकिन यह खुशी कुछ देर के बाद ही अभ्यर्थियों के लिए परेशानी का कारण बन गया. शिक्षामंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने एक दिन पहले बुधवार रात को ट्वीट के जरीए 26 सितंबर को रीट परीक्षा का आयोजन करवाया जाने की घोषणा की. लेकिन रीट परीक्षा और कॉलेज लेक्चरर परीक्षा तिथि के टकराने से करीब 16 लाख अभ्यर्थियों के लिए असमंजस की स्थति बन गई।

राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से 22 सितंबर से 4 अक्टूबर तक आरपीएससी कॉलेज लेक्चरर की परीक्षा का आयोजन होना है। ऐसे में अब दोनों परीक्षाओं में टकराव होना तय है. राज्य भर में रीट परीक्षा में जहां 16 लाख परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं. वहीं आरपीएससी लेक्चरर परीक्षा में लगभग दो लाख परीक्षार्थी भी पूरे राज्य से शामिल हो रहे हैं. इन दोनों परीक्षाओं में शामिल अधिकांश परीक्षार्थी ऐसे हैं जो दोनों परीक्षाओं की तैयारियां एक साथ कर रहे हैं। 

गौरतलब है कि रीट की परीक्षा पहले 25 अप्रैल को होनी थी, लेकिन उस दिन महावीर जयंती के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था। फिर इसे 20 जून को कराने का फैसला किया गया, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इसे और आगे के लिए टालना पड़ा।

एबीवीपी ने की परीक्षा तिथि आगे बढ़ाने की मांग  

  • एबीवीपी के प्रदेश मंत्री होशियार मीणा और सज्जन कुमार सैनी कॉलेज लक्चरर परीक्षा के बीच में ही रीट परीक्षा करवाए जाने का विरोध करते हुए कहा कि शिक्षामंत्री ने एक बार फिर लाखों स्टूडेंट के भविष्य को असमंजस की स्थिति में डालकर भविष्य के दांव पर लगा दिया है। उन्होंने रीट की तिथि की घोषणा तो कर दी, लेकिन अधिकारियों से यह जानकारी प्राप्त नहीं की कि 26 सितंबर के आसपास या 26 सितंबर को क्या कोई और भी प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित होने वाली है या नहीं. एबीवीपी ने  सरकार से मांग की है कि रीट परीक्षा की तिथि को आगे बढ़ाया जाए, जिससे वह आरपीएससी लेक्चरर भर्ती की परीक्षा में भी शामिल हो सकें।

अधिकांश परीक्षार्थियों का कहना है कि भविष्य को देखते हुए दोनों परीक्षाएं करियर के लिए जरूरी है लेकिन महत्वपूर्ण बात यह है कि रीट से जहां हम स्कूल शिक्षक बनेंगे वहीं आरपीएससी की लेक्चरर परीक्षा से व्याख्याता पद पर आसीन होंगे,  इसलिए रीट परीक्षा के साथ साथ आरपीएससी लेक्चरर परीक्षा भी उतनी ही जरूरी है।

संबंधित खबरें