DA Image
Saturday, December 4, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरRajasthan Patwari Exam 2021: RSMSSB ने कहा, डेढ़ घंटा पहले पहुंचें परीक्षार्थी, फ्रिस्किंग और मेटल डिटेक्टर से होंगी जांच

Rajasthan Patwari Exam 2021: RSMSSB ने कहा, डेढ़ घंटा पहले पहुंचें परीक्षार्थी, फ्रिस्किंग और मेटल डिटेक्टर से होंगी जांच

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPankaj Vijay
Fri, 22 Oct 2021 08:20 AM
Rajasthan Patwari Exam 2021: RSMSSB ने कहा, डेढ़ घंटा पहले पहुंचें परीक्षार्थी, फ्रिस्किंग और मेटल डिटेक्टर से होंगी जांच

RSMSSB Patwari Exam 2021: राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (आरएसएमएसएसबी), जिला प्रशासन एवं पुलिस विभाग ने 23 एवं 24 अक्टूबर को आयोजित होने वाली पटवार सीधी भर्ती परीक्षा के पारदर्शी एवं शांतिपूर्वक सफल आयोजन के लिए सभी तैयारी पूरी कर ली है। परीक्षा में पारदर्शी एवं शुचिता सुनिश्चित करने के लिए बोर्ड द्वारा फ्रिस्किंग एवं मेटल डिटेक्टर का इस्तेमाल किया जायेगा। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरि प्रसाद शर्मा ने बताया कि सभी परीक्षा केन्द्रों पर केन्द्राधीक्षक, अतिरिक्त केन्द्राधीक्षक, अभिजागर आंतरिक सर्तकता दल, ऑब्जर्वर पुलिसकर्मी आदि लगाये गये है। परीक्षार्थियों की परीक्षा केन्द्र में प्रवेश से पूर्व गहन तलाशी, फोटोयुक्त पहचान पत्र के आधार पर अभ्यर्थी की पहचान, फ्रिस्किंग व परीक्षा केन्द्रों पर स्थापित मेटल डिटेक्टर से जांच की प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात ही परीक्षा केन्द्र में प्रवेश दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि परीक्षार्थी परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा प्रारम्भ होने के निर्धारित समय से 1 घंटा 30 मिनट पूर्व पहुंचे। साथ ही अतिरिक्त सतर्कता की दृष्टि से परीक्षा केन्द्र एवं परीक्षा कक्ष में उपर्युक्त स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाने की व्यवस्था भी की गई है, जिससे परीक्षा केन्द्र की गतिविधियां कैमरे की नजर में रहें।

बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि मोबाइल, ब्लूटूथ एवं अन्य कोई संचार उपकरण को परीक्षा केन्द्र के अन्दर ले जाना सर्वथा वर्जित है। यदि कोई अभ्यर्थी ऐसा करता है तो उसके विरूद्ध कठोर कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। बोर्ड स्वंय के स्तर पर कुछ विशेष संदिग्ध या विवादित अभ्यर्थियों के रोल नं० चिन्हित कर गोपनीय रूप से जिला प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों को प्रेषित कर सकता है, जिन पर परीक्षा आयोजन के प्रयोजनार्थ गठित सतर्कता दल एवं वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी के नेतृत्व में गठित फ्लाइंग स्क्वाड, आब्जर्वर, केन्द्राधीक्षक एवं आंतरिक सतर्कता दल द्वारा विशेष निगरानी रखी जा सके। उन्होंने बताया कि भर्ती परीक्षा के समय परीक्षा कार्य के लिए ड्यूटी  देने वाले अधिकारी व कर्मचारी परीक्षा ड्यूटी के दौरान राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अधीन प्रतिनियुक्ति पर माने जायेंगे। 

15.62 लाख देंगे परीक्षा, ड्रेस कोड का पालन जरूरी
बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि इस परीक्षा हेतु कुल 15 लाख 62 हजार 995 अभ्यर्थियों में से 5 लाख 2 हजार 307 महिला अभ्यर्थी पंजीबद्ध है। परीक्षा में सम्मिलित होने वाले सभी अभ्यर्थियों का ड्रेस कोड की पालना करनी होगी। ड्रेस कोड की पालना नहीं करने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा केन्द्र में प्रवेश नहीं दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि परीक्षा आयोजन से सम्बद्ध अधिकारियों व कार्मिकों के विधिसम्मत निर्देशों की अवहेलना करने वाले अभ्यर्थियों के विरुद्ध कठोर दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी। परीक्षा केन्द्र में अवांछित सामग्री से जाने का प्रयास करने, नकल करने अभ्यर्थी के स्थान पर फर्जी अभ्यर्थी बैठाने अथवा प्रयास करने वाले अभ्यर्थियों की परीक्षा निरस्त की जाकर बोर्ड द्वारा आगामी समय में आयोजित परीक्षाओं से आजीवन अवधि के लिए प्रतिबंधित किये जायेंगे। साथ ही राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों के उपयोग की रोकथाम) अधिनियम 1992 के अन्तर्गत एफ.आई.आर दर्ज करवायी जावेगी। 

उल्लेखनीय है कि हाल ही में इस अधिनियम में सरकार की ओर से प्रस्तावित संशोधन के अनुसार इस अधिनियम के अन्तर्गत दर्ज प्रकरण में कारावास की अवधि 3 वर्ष से बढाकर 7 वर्ष किये जाने तथा ऐसे अपराध (परीक्षाओं में अनुचित साधनों का उपयोग) को गैर-जमानती अपराध की श्रेणी में शामिल किया गया है।

शर्मा ने बताया कि परीक्षार्थी परीक्षाओं के सम्बन्ध में विभिन्न सोशल मीडिया पर किये जा रहे भ्रामक प्रचार पर विश्वास न करें। बोर्ड द्वारा राज्य स्तरीय प्रतिष्ठित समाचार पत्रों में एवं बोर्ड की वेबसाईट www.rsmssb.rajasthan.gov.in पर प्रकाशित विज्ञप्ति द्वारा दी गई जानकारी को ही अधिकृत मानें।
 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें