ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरPRSU Admission 2024 : प्रोफेशनल कोर्स के लिए 5 % बढ़ी न्यूनतम अर्हता

PRSU Admission 2024 : प्रोफेशनल कोर्स के लिए 5 % बढ़ी न्यूनतम अर्हता

PRSU Prayagraj : प्रो राजेंद्र सिंह रज्जू भैया विश्वविद्यालय ने प्रोफेशनल कोर्सों में दाखिला लेने की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए अहम खबर दी है। अब प्रोफेशनल कोर्सों में दाखिले के लिए 5 फीसदी अर्हता अ

PRSU Admission 2024 : प्रोफेशनल कोर्स के लिए 5 % बढ़ी न्यूनतम अर्हता
Alakha Singhकार्यालय संवाददाता,प्रयागराजFri, 10 May 2024 03:22 PM
ऐप पर पढ़ें

PRSU Admission 2024 : प्रो. राजेंद्र सिंह (रज्जू भय्या) विश्वविद्यालय ने नए सत्र में शैक्षिक गुणवत्ता सुधारने के लिए अहम निर्णय लिया है। इस साल व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए पांच फीसदी न्यूनतम अर्हता बढ़ा दी गई है। सामान्य व ओबीसी वर्ग के लिए 50 प्रतिशत और एससी-एसटी विद्यार्थियों के लिए स्नातक में 45 फीसदी अंक अनिवार्य किया गया है। इस संबंध में राज्य विश्वविद्यालय ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। प्रोफेशनल पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए तीन मई से आवेदन शुरू है। परिसर और संबद्ध कॉलेज में व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा के जरिए होगा। परीक्षा 10 जुलाई को प्रस्तावित है।

राज्य विश्वविद्यालय एवं मंडल के के 114 संबद्ध कॉलेज में 20 प्रकार के व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के 11 हजार से ज्यादा सीटों के सापेक्ष प्रवेश होगा। कैंपस में 12 प्रकार व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के 500 सीटों पर प्रवेश होगा। विश्वविद्यालय के शैक्षिक सत्र 2023-24 में व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए सामान्य एवं ओबीसी अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम अर्हत 45 फीसदी तय किया गया था। जबकि एससी-एसटी के लिए 40 फीसदी अंक की बाध्यता थी। लेकिन इस बार पांच प्रतिशत बढ़ा दिया गया है। परास्नातक स्तर पर व्यवसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले सामान्य व ओबीसी अभ्यर्थियों को स्नातक में 50 फीसदी अंक अनिवार्य किया गया है। इसी प्रकार एससी-एसटी के लिए 45 प्रतिशत की बाध्यता तय किया गया है। वहीं, स्नातक लेवल के व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए छात्रों का क्रमश इंटरमीडिएट में 50 और 45 फीसदी अंक होना अनिवार्य किया गया है। कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार सिंह ने बताया कि कॉलेज एवं परिसर में शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने के लिए प्रोफेशनल पाठ्यक्रमों में न्यूनतम अर्हता तय की गई है। तय अंक पाने वाले ही व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकेंगे। 

Virtual Counsellor