ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियररेलवे में 1.40 लाख लोगों की भर्ती के लिए प्रक्रिया चल रही: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव

रेलवे में 1.40 लाख लोगों की भर्ती के लिए प्रक्रिया चल रही: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव

Job in Railway : सरकार ने राज्यसभा में जानकारी दी कि कहा कि रेलवे ने 2014 से 2022 के दौरान कुल मिलाकर करीब 3.50 लाख लोगों को रोजगार दिया है और अभी 1.40 लाख लोगों की भर्ती के लिए प्रक्रिया चल रही है।

रेलवे में 1.40 लाख लोगों की भर्ती के लिए प्रक्रिया चल रही: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव
Alakha Singhभाषा,नई दिल्लीFri, 05 Aug 2022 06:48 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Job in Railway : सरकार ने शुक्रवार को राज्यसभा में कहा कि रेलवे ने 2014 से 2022 के दौरान कुल मिलाकर करीब 3.50 लाख लोगों को रोजगार दिया है तथा अभी 1.40 लाख लोगों की भर्ती के लिए प्रक्रिया चल रही है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने उच्च सदन में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 2014 से 2022 के बीच रेलवे ने 3,50,204 लोगों को रोजगार दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 लाख लोगों को रोजगार देने की जो प्रतिबद्धता जतायी है, उसमें भी रेलवे की अहम भूमिका होगी और वह 1.40 लाख लोगों को नौकरियां देगा। उन्होंने कहा कि रेलवे इस साल 18 हजार नौकरियों की पेशकश कर चुका है। 

रेल मंत्री ने पश्चिम बंगाल के संदर्भ में कहा कि वहां विगत में कई परियोजनाओं की घोषणा की गई थी लेकिन रेलवे के तमाम प्रयासों के बावजूद उसे जमीन नहीं मिल सकी है। उन्होंने पिछली घोषणाओं पर तंज करते हुए कहा, ''कुछ लोग घोषणा करते हैं, कुछ लोग काम करते हैं... हम बातें नहीं, काम करने में विश्वास करते हैं।'' वैष्णव ने कहा कि राज्य में जमीन मिलते ही परियोजनाओं पर काम शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि रेलवे ऐसा विभाग है जिसमें 'सबका प्रयास' की जरूरत है और राज्यों की ओर से सहयोग काफी अहम है। 

कोलकाता मेट्रो का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में वहां विस्तार की गति काफी धीमी थी लेकिन अब हर पांच-छह महीने में एक नया खंड चालू हो रहा है। रेल मंत्री ने समर्पित माल ढुलाई गलियारा (डीएफसी) का जिक्र करते हुए कहा कि अब तक इसमें 1300 किलोमीटर हिस्सा चालू हो गया है जबकि 2014 तक इसमें कोई खास प्रगति नहीं हुई थी।  

epaper