DA Image
हिंदी न्यूज़ › करियर › विद्यालय में अनुसूचित जाति के बच्चों के बर्तन अलग रखने के मामले में प्रधानाध्‍यापिका निलंबित
करियर

विद्यालय में अनुसूचित जाति के बच्चों के बर्तन अलग रखने के मामले में प्रधानाध्‍यापिका निलंबित

एजेंसी,मैनपुरीPublished By: Yogesh Joshi
Sun, 26 Sep 2021 01:41 PM
विद्यालय में अनुसूचित जाति के बच्चों के बर्तन अलग रखने के मामले में प्रधानाध्‍यापिका निलंबित

मैनपुरी जिले के बेवर विकासखंड के प्राथमिक विद्यालय दौदापुर की प्रधानाध्यापिका को कर्तव्यों में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। मध्यान्ह भोजन में अनुसूचित जाति के छात्रों के बर्तन अलग रखवाने के आरोप में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने प्रधानाध्यापिका के खिलाफ यह कार्रवाई की है।

विद्यालय की दोनों रसोइयों को भी सेवा से हटा दिया गया है। मुख्‍य विकास अधिकारी (सीडीओ) विनोद कुमार ने बताया कि मध्यान्ह भोजन में अनुसूचित जाति के छात्रों के बर्तनों के संबंध में जातिगत भेदभाव की शिकायत पर प्रधानाध्यापिका को निलंबित कर दिया गया है।

कुमार ने बताया कि ग्राम प्रधान मंजू देवी के पति साहब सिंह ने शिकायत की थी कि विद्यालय में अनुसूचित जाति के बच्चों के बर्तन अलग रखे जाते हैं। अनुसूचित जाति के बच्चों द्वारा प्रयोग किये गये बर्तनों को रसोई में रखने की अनुमति नहीं थी।

सीडीओ ने बताया कि शिकायत मिलने पर उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कमल सिंह और परियोजना निदेशक के. के. सिंह के साथ विद्यालय और रसोई का निरीक्षण किया और वहां अनुसूचित जाति के बच्चों द्वारा प्रयोग किये गये बर्तनों को अलग कक्ष में पाया। सीडीओ ने मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए मौके पर ही दो रसोइयों को सेवा से हटा दिया और प्रधानाध्यापिका गरिमा सिंह राजपूत को कर्तव्यों में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया।

संबंधित खबरें