DA Image
27 जनवरी, 2020|5:53|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ‘पाइका विद्रोह स्मारक’ की आधारशिला रखी

paika vidroh foundation stone by president ram nath kovind

पाइका विद्रोह के दो सौ साल पूरे होने के मद्देनजर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ओडिशा में रविवार को ‘पाइका विद्रोह स्मारक’ की आधारशिला रखी। ओडिशा के पाइका समुदाय के लोगों ने 1817 में ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विद्रोह किया था। इसे भारत में आजादी के लिए पहली बगावत के तौर पर देखा जाता है।

‘पाइका विद्रोह स्मारक’ का निर्माण ओडिशा के खुरदा जिले स्थित बरुनेई हिल की तलहटी में किया जा रहा है। यह दस एकड़ दायरे में फैला होगा। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन इसके निर्माण का जिम्मा संभाल रही है। कोविंद ने कहा, ‘पाइका विद्रोह स्मारक वीरता का प्रतीक होगा। यह युवाओं और आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणास्रोत का काम करेगा।’ कार्यक्रम में ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल, मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, आंध्र प्रदेश के राज्यपाल बिस्व भूषण हरिचंदन, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सहित कई हस्तियां मौजूद थीं।

नवीन पटनायक ने कहा, ‘पाइका समुदाय के लोगों ने ही ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विद्रोह की शुरुआत की थी। उनके आंदोलन के चलते देश के अन्य हिस्सों में भी आजादी की मांग परवान चढ़ी।’ पटनायक ने पाइका विद्रोह को भारत का पहला स्वतंत्रता आंदोलन घोषित करने की मांग की। साथ ही बताया कि ओडिशा सरकार ने केंद्र से स्वतंत्रता सेनानी बुक्सी जगबंधु के नाम पर एक विशेष एक्सप्रेस ट्रेन चलाने का आग्रह किया है। राष्ट्रपति से इस मांग पर गौर करने की गुजारिश भी की गई है। धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि पाइका विद्रोह के नायक एवं ब्रिटिश शासन के खिलाफ आंदोलन का नेतृत्व करने वाले बुक्सी जगबंधु आज भी हमें प्रेरित करते हैं। उनकी बहादुरी और देशप्रेम की कोई मिसाल नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:President Ram Nath Kovind lays foundation stone for Paika Rebellion Memoria in odisha know about paika vidroh