अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नर्सरी एडमिशन: 95 फीसदी आवेदकों का बड़े स्कूल में दाखिले का सपना टूटा

admission

राजधानी के निजी स्कूलों ने गुरुवार को नर्सरी दाखिले के लिए पहली सूची के साथ प्रतीक्षा सूची भी जारी कर दी। इसके बाद सुबह-सुबह स्कूलों में दाखिले की जानकारी लेने पहुंचे तकरीबन पांच फीसदी आवेदनकर्ताओं को छोड़कर बाकी 95 फीसदी को निराशा हाथ लगी। बड़े स्कूलों में अपने बच्चे का नाम सूची में न पाकर वे निराश होकर दूसरे स्कूल की तरफ बढ़ गए। जगह न पाने वाले अभिभावकों को अब दूसरी सूची का इंतजार है।

बड़ी संख्या में अभिभावक गुरुवार सुबह 8 बजे से ही स्कूलों में जुटने लगे थे। स्कूलों ने चयनित बच्चों के नाम की सूची प्रतीक्षा सूची के साथ सूचना पट पर चस्पा की थी। जिन अभिभावकों को अपने बच्चे का नाम दाखिला सूची में मिला, उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। वहीं, कई बच्चों का नाम प्रतीक्षा सूची में भी था। 
मगर, कहीं भी नाम न आने पर बड़ी संख्या में अभिभावकों को निराश होना पड़ा। खासकर बड़े स्कूलों के लिए इस बार भी एक सीट पर तकरीबन 23 से 24 बच्चों की दावेदारी थी। उदाहरण स्वरूप डीपीएस मथुरा रोड में सामान्य की कुल सीटों 130 के लिए 3000 लोगों ने आवेदन किया था।

इसी तरह, स्प्रिंगडेल्स स्कूल पूसा रोड में 68 सामान्य सीटों के लिए 2000 से ज्यादा आवेदन मिले थे। रघुवीर सिंह मॉडर्न स्कूल में 102 सामान्य सीटों के लिए 2589 ने आवेदन किया था। माउंट आबू स्कूल में सामान्य 140 सीटों पर 2560 आवेदन मिले थे। इस तरह से देखा जाए तो पहली सूची के बाद 95 फीसदी बच्चे उनकी दाखिला सूची से बाहर हैं। फिलहाल इन बच्चों के अभिभावकों के सामने दूसरे स्कूलों के विकल्प खुले हैं। 
लवली पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्य भावना मलिक का कहना है कि सोमवार तक ज्यादातर बच्चों के दाखिले स्पष्ट हो जाएंगे। कुछ बची सीटें स्कूल प्रतीक्षा सूची के साथ सामान्य वर्ग के अभिभावकों को दूसरी सूची में देगा। इसमें भी वही चुने जाएंगे जो दूरी या अन्य प्वाइंट्स में आगे हैं।

घर के पते के लिए मान्य दस्तावेज 
- माता या पिता का मतदाता पहचान पत्र 
- बिजली, एमटीएनएल फोन, पानी आदि का बिल 
- बच्चे या अभिभावक का पासपोर्ट
- माता या पिता का आधार कार्ड 
- बच्चे का आधार कार्ड
- अभिभावकों के नाम का राशन कार्ड
- बच्चे या अभिभावकों का आवास प्रमाण पत्र 

यह कागजात भी जरूरी
- बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
- बच्चे का पासपोर्ट साइज फोटो

एलुमनी या सिबलिंग है तो-

अगर आपको दाखिले में सिबलिंग या एलुमनी के प्वाइंट्स मिले हैं तो आपको इससे जुड़े साक्ष्य स्कूल को देने होंगे। सिबलिंग के लिए कुछ स्कूल फीस बिल और रिपोर्ट कार्ड मांगते हैं। वहीं, एलुमनी के लिए चरित्र प्रमाण पत्र और स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट दिखानी होती है। इसके अलावा, कई सकूल मेंबरशिप कार्ड भी मांगते हैं। एकल अभिभावक की स्थिति में आपको तलाक के कागजात और बच्चे के कानूनी संरक्षण से जुड़े साक्ष्य देने हेांगे। विशेष बच्चों के लिए आपको जन्म प्रमाण पत्र और आवास प्रमाण पत्र के अलावा दिव्यांगता से जुड़ा प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। इन सभी कागजात की प्रति के साथ-साथ आपको इसकी मूल प्रमाण पत्र भी दिखानी होगी।

अभी अन्य दाखिला सूचियों का इंतजार करें : अगर बड़े स्कूल में दाखिले की पहली सूची में आपके बच्चे का नाम नहीं आया है तो अभी आपके पास दूसरे स्कूलों के विकल्प भी खुले हैं। जिन अभिभावकों ने एक साथ पांच स्कूलों में आवेदन किया है, उनका किसी दूसरे स्कूल की सूची में भी नाम आने पर वह मनपसंद जगह दाखिला कराएंगे। इससे दूसरे स्कूल की सीट खाली होगी। फिर पहली सूची के बाद बची सीटें दूसरी सूची में आपको मिल सकती हैं। अभी स्कूलों की अन्य दाखिला सूचियों तक आपको इंतजार करना चाहिए।

किसी निजी स्कूल से कम नहीं हैं ये 300 सरकारी स्कूल
बच्चों के दाखिले के लिए निजी स्कूलों के चक्कर काट रहे अभिभावकों के लिए एक अच्छी खबर है। इस साल सरकार की ओर से 150 और सर्वोदय विद्यालयों में नर्सरी दाखिले की शुरुआत हो रही है। शिक्षा निदेशक सौम्या गुप्ता का कहना है कि पिछले साल हमने 154 स्कूलों में नर्सरी कक्षाएं शुरू करके दाखिला शुरू किया था। इस साल हमने 150 और सर्वोदय विद्यालय में नर्सरी दाखिला शुरू किया है। वह बताती हैं कि इन कक्षाओं को तैयार करने में प्रति कक्षा एक लाख रुपये खर्च किया गया है। सरकारी स्कूलों में निजी स्कूलों की तर्ज पर ही स्मार्ट कक्षाएं, स्कूल के झूले, बेबी टॉयलेट और आधुनिक तकनीकें विकसित की गई हैं। 
उन्होंने कहा कि जिन अभिभावकों को निजी स्कूलों में दाखिला नहीं मिलता, उनके लिए ये सरकारी स्कूल कहीं से कम नहीं हैं। यहां मार्च से दाखिले शुरू होंगे। अभिभावकों को फीस, यूनिफार्म और किताबों का कोई खर्च नहीं उठाना होगा। उन्होंने कहा कि अभिभावक निदेशालय आकर स्कूलों की पूरी जानकारी ले सकते हैं। हम उन्हें दाखिले से पहले स्कूल का दौरा भी कराएंगे। सरकार जल्द ही इसका प्रचार-प्रसार भी शुरू करने वाली है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nursery admission First list of nursery admission will be released today
पांचवां एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच
अफगानिस्तान241/9(50.0)
vs
जिम्बाब्वे95/10(32.1)
अफगानिस्तान ने जिम्बाब्वे को 146 रनो से हराया
Mon, 19 Feb 2018 04:00 PM IST
पांचवां एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच
अफगानिस्तान241/9(50.0)
vs
जिम्बाब्वे95/10(32.1)
अफगानिस्तान ने जिम्बाब्वे को 146 रनो से हराया
Mon, 19 Feb 2018 04:00 PM IST
फाइनल
न्यूजीलैंड
vs
ऑस्ट्रेलिया
ईडन पार्क, ऑकलैंड
Wed, 21 Feb 2018 11:30 AM IST