Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरनर्सरी एडमिशन : निजी स्कूलों में EWS और अन्य श्रेणी की खाली सीटों पर 6 दिसंबर से होंगे आवेदन

नर्सरी एडमिशन : निजी स्कूलों में EWS और अन्य श्रेणी की खाली सीटों पर 6 दिसंबर से होंगे आवेदन

कार्यालय संवाददाता,नई दिल्लीAlakha Singh
Sun, 05 Dec 2021 06:33 PM
नर्सरी एडमिशन : निजी स्कूलों में EWS और अन्य श्रेणी की खाली सीटों पर 6 दिसंबर से होंगे आवेदन

इस खबर को सुनें

शैक्षणिक सत्र 2021-2022 में नर्सरी से लेकर पहली कक्षा की आर्थिक पिछड़ा वर्ग (ईडब्ल्यूएस), वंचित वर्ग (डीजी) और दिव्यांग श्रेणी की खाली सीटों को भरने के लिए शिक्षा निदेशालय ने परिपत्र जारी किया है। निजी स्कूलों की माने तो कोरोना के चलते सीटें खाली रह गई थी। जिन्हें भरने के लिए निदेशालय ने सारणी जारी की है।

निदेशालय के परिपत्र के अनुसार अलग-अलग श्रेणी की सीटें भरने को लेकर दो बार पहले भी कंप्यूटराइज्ड ड्रॉ आयोजित किया जा चुका है। लेकिन निजी स्कूलों में ईडब्ल्यूएस, डीजी और दूसरी श्रेणी की सीटें अभी भी खाली पड़ी है। इसे ध्यान में रखते हुए विभाग ने अभ्यर्थियों से नए ऑनलाइन आवेदन मांगे है। स्कूलों में खाली सीट संबंधी जानकारी निदेशालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

दाखिला को लेकर ईडब्ल्यूएस, डीजी और दिव्यांग श्रेणी की खाली सीटों की ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया छह दिसंबर से शुरू होगी। 13 दिसंबर तक दाखिले के लिए अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे। जबकि 17 दिसंबर को तीसरा ऑनलाइन ड्रॉ आयोजित किया जाएगा। दाखिला संबंधी योग्यता को लेकर इस वर्ष अप्रैल महीने में जारी परिपत्र में दिशा-निर्देश को लेकर पहले ही सूचित किया जा चुका है। दाखिला प्रक्रिया संबंधी जानकारी और शिकायत को लेकर सोमवार से लेकर शुक्रवार के बीच सुबह दस बजे से लेकर शाम पांच बजे तक हेल्पलाइन नंबर 8800355192 और 9818154069 पर सूचना प्राप्त की जा सकती है।

मयूर विहार फेज-3 स्थित विद्या बाल भवन सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रधानाचार्य डॉ. सतवीर शर्मा ने बताया कि निजी स्कूलों में दाखिले को लेकर आवंटित सीटों में ईडब्ल्यूएस, डीजी और दिव्यांग श्रेणी के लिए 25 फीसदी सीटें आरक्षित होती है। लेकिन कोरोना की वजह से अभी भी सारी सीटों को भरा नहीं जा सका है। उन्हीं खाली सीटों को भरने के संबंध में निदेशालय द्वारा यह परिपत्र जारी किया गया है। इस बार सामान्य श्रेणी की आवंटित सीटों पर भी पूरे दाखिले नहीं हुए थे। 

epaper

संबंधित खबरें