NTA NEET Result 2019 anant from Meerut got Fifth Rank in Country - NTA NEET Result 2019 : मेरठ के अनंत की देश में पांचवीं रैंक DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

NTA NEET Result 2019 : मेरठ के अनंत की देश में पांचवीं रैंक

symbolic image

देशभर के मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश को अनिवार्य नेशनल इलीजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) के रिजल्ट में मेरठ-सहारनपुर मंडल के मेधावियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए शहर का नाम रोशन कर दिया। मेरठ के अनंत जैन ने देश में पांचवी रैंक पाते हुए श्रेष्ठ मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पक्का कर लिया। मेरठ से ही पार्थ गिल ने 27 जबकि सहारनपुर से हर्ष जैन ने 21 वीं रैंक पाई है। मेरठ-सहारनपुर मंडल से तीन छात्र देश के टॉप-50 रैंक में जगह बनाने में सफल हुए हैं।

बुधवार को जारी नीट रिजल्ट में मेरठ-सहारनपुर मंडल के मेधावियों का दबदबा कायम रहा। रेलवे रोड स्थित प्रेमपुरी पीपल वाली गली निवासी अनंत जैन ने पहले ही प्रयास में पांचवी रैंक पाते हुए मेरठ की झोली में बड़ी सफलता डाल दी। अनंत ने इसी वर्ष दिल्ली के अभिनव पब्लिक स्कूल से इंटर की परीक्षा उत्तीर्ण की। पंचवटी कॉलोनी निवासी पार्थ गिल ने भी पहले ही प्रयास में नीट में 27 वीं रैंक प्राप्त की है। पार्थ ने भी दिल्ली से इंटर पास किया है। सहारनपुर से महावीर कॉलोनी निवासी हर्ष जैन ने नीट में 690 अंक पाते हुए 21 वीं रैंक पाई है। मेरठ के अनंत और सहारनपुर के हर्ष जैन देश के टॉप-20 मेल टॉपर्स की सूची में भी शामिल हैं। मेरठ से राष्ट्रीय स्तर पर टॉप-100 स्टूडेंट में इस वर्ष तीन छात्रों ने बाजी मारी है। मेरठ से ही आर्यन बंसल को 27वीं और अर्णव उपाध्याय को 108 वीं रैंक मिली है। 

 उम्मीद टॉप-05 की नहीं टॉप-100 में थी: अनंत जैन

नीट का रिजल्ट आते ही अनंत जैन खुशी से उछल पड़े। अनंत ने इसी वर्ष 86.6 फीसदी अंकों के साथ इंटर की परीक्षा पास की। अनंत जैन के अनुसार उसने सात से आठ घंटे नियमित तैयारी की। यह तो उम्मीद थी कि टॉप-100 में रैंक मिलेगी, लेकिन टॉप-05 रैंक मिलना मेरे लिए सरप्राइज जैसा है। अनंत के पिता अतुल कुमार जैन बिजनेसमैन हैं जबकि मम्मी सारिका जैन जैन कन्या पाठशाला इंटर कॉलेज मुजफ्फरनगर में प्रिंसीपल हैं। सारिका जैन के अनुसार अनंत शुरु से ही मेधावी छात्रों में शुमार रहे हैं। अनंत किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (केवीपीवाई) भी क्वालीफाई कर चुके हैं। अनंत ने सफलता का श्रेय माता-पिता और बॉयोकेम के निदेशक कर्मवीर सिंहल को दिया है। उन्होंने एटमॉस क्लासेज के जीके सिंह से भी मार्गदर्शन प्राप्त किया। अनंत के परिवार में बड़े भाई और बड़ी बहन भी इस वक्त मेडिकल की पढ़ाई कर रही हैं। बहन अपूर्वा जैन श्रीराम मूर्ति मेडिकल कॉलेज बरेली में एमबीबीएस थर्ड ईयर की स्टूडेंट हैं जबकि भाई समकित जैन एम्स नागपुर में एमबीबीएस प्रथम वर्ष के छात्र हैं। अनंत के अनुसार फिलहाल वह एम्स के रिजल्ट का इंतजार करेंगे। यदि एम्स के रिजल्ट में अच्छी रैंक आती है तो वह एम्स में प्रवेश को वरीयता देंगे। यदि एम्स में प्रवेश नहीं मिलता तो फिर नीट के जरिए मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेंगे। अनंत का लक्ष्य न्यूरो सर्जन बनने का है। अनंत के अनुसार उसने 11 वीं में ही न्यूरोसर्जन बनने का फैसला कर लिया था। अनंत ने इंटर और मेडिकल की तैयारी के दौरान मोबाइल और सोशल मीडिया से दूरी बनाए रखी। अनंत को बॉस्केटबॉल और किक्रेट खेलना पसंद है।

निरंतर पढ़ाई से पाई नीट में 27 वीं रैंक: पार्थ गिल

नीट में राष्ट्रीय स्तर पर 27 वीं रैंक पाते हुए पार्थ गिल ने शहर का नाम रोशन किया है। पार्थ ने सेंट मेरीज से 10 वीं जबकि इंटर से 12 वीं उत्तीर्ण की। पार्थ के पिता मनोज कुमार बुढ़ाना में तहसीलदार हैं जबकि मम्मी कविता रानी सिंह अभियोजन अधिकारी हैं। पार्थ के मुताबिक उन्होंने प्रत्येक शनिवार और रविवार मेरठ में कोचिंग क्लास अटेंड की। पार्थ के अनुसार उसने पांच से छह घंटे निरंतर तैयारी करते हुए यह सफलता हासिल की। पार्थ गिल भी एम्स के रिजल्ट के इंतजार में हैं। यदि एम्स में अच्छी रैंक मिली तो वे एम्स में प्रवेश को प्राथमिकता देंगे। यदि यहां प्रवेश नहीं मिलता तो वे नीट स्कोर से मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेंगे। तन्मय के परिवार में छोटा भाई है जो दसवीं कक्षा का छात्र है। तन्मय ने सफलता का श्रेय माता-पिता और शिक्षकों को दिया है।     

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NTA NEET Result 2019 anant from Meerut got Fifth Rank in Country