Now students of class 10th will have to study sixth to ninth class syllabus know the reason - अब 10वीं के छात्रों को पढ़ना होगा छठी से नौंवीं के पाठ, ये है बड़ी वजह DA Image
19 नबम्बर, 2019|9:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब 10वीं के छात्रों को पढ़ना होगा छठी से नौंवीं के पाठ, ये है बड़ी वजह

stress

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) परीक्षा से पहले सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे 10वीं के छात्र पुरानी कक्षाओं के पाठ पढ़ेंगे। इसके तहत 10वीं बोर्ड के छात्रों को कक्षा छह से नौंवी तक के चयनित पाठ पढ़ाए जाने का फैसला शिक्षा निदेशालय ने लिया है, जिससे छात्र 10वीं के बोर्ड में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

शिक्षा निदेशालय ने इस संबंध  में सरकारी स्कूलों को निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत परीक्षार्थियों की बुनियादी दक्षताओं में सुधार के लिए छात्रों को विज्ञान व गणित के पिछली कक्षाओं के पाठ पढ़ाए जाएंगे, जिससे पूर्व में पाठों को समझने में हुई खामियां दुरस्त हो सके। निदेशालय की स्कूल व परीक्षा शाखा की तरफ से जारी पत्र में स्कूल प्रमुखों को कहा गया है कि उपयुक्त सहायता से सीखने की खामियों की पहचान व इन्हें खामियों को दुरस्त करना वक्त की मांग हैं।

निदेशालय ने कहा है कि कोर एकेडमिक यूनिट (सीएयू) की विषय विशेषज्ञ टीम ने गणित व विज्ञान की सीबीएसई आंसर स्क्रीप्ट के प्रश्न आधारित विश्लेषण व अर्धवार्षिक परीक्षा के विषय आधारित विश्लेषण के बाद महत्वपूर्ण पाठों की पहचान की है।

कक्षा छठी से नौवीं कक्षा में शामिल यह पाठ छात्रों को पढ़ाए जाने हैं। निदेशालय ने स्कूल प्रमुखों को निर्देशित किया है कि वह सुझाए गए पाठों को आवश्यक रूप से विषय सूची तैयार कर संबंधित शिक्षकों के माध्यम से पढ़ाए। यह पाठ 10वीं के छात्रों को रेमेडियल कक्षाओं में पढ़ाए जाएंगे। जिसमें सभी  छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य होनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Now students of class 10th will have to study sixth to ninth class syllabus know the reason