DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई पहल- सीबीएसई टॉपर्स की कॉपियों को सैंपल बना होगी पढ़ाई

cbse board 10th result 2019 declared at cbseresults nic

अभी तक बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड खुद सैंपल पेपर जारी करते रहे हैं। लेकिन पहली बार ऐसा होगा, जब टॉपर्स की उत्तरपुस्तिका को सैंपल बना कर पढ़ाई करवायी जाएगी। सीबीएसई के साथ आईसीएसई बोर्ड भी इसे लागू करेगा। 

गर्मी छुट्टी समाप्त होने के बाद इसकी पढ़ाई शुरू होगी। इससे संबंधित निर्देश जल्द ही स्कूलों को भेजा जायेगा। बोर्ड की मानें तो 9वीं से 12वीं तक की कक्षाओं में यह व्यवस्था लागू होगी। 9वीं और 10वीं में मैट्रिक और 11वीं-12वीं में प्लस टू के संकायवार टॉपर्स की कॉपी को सैंपल पेपर के रूप में दिये जायेंगे। ज्ञात हो कि हर साल परीक्षा के तीन महीने पहले बोर्ड सैंपल पेपर जारी करता है। इसमें बोर्ड प्रश्न पत्र के पैटर्न की जानकारी देता है। पहली बार है, जब टॉपर्स की कॉपियों को तीन कैटेगरी में रखा गया है। 

उत्तर लिखने के तरीके की जानकारी मिलेगी 

दो प्रश्न के उत्तर के बीच कितनी जगह छोड़ें, इसे जान पायेंगे 

स्टेपवाइज मार्किंग के लिए उत्तर लिखने का तरीका पता चलेगा 

जवाब देने में रफ वर्क करने की जानकारी मिलेगी 

हैंडराइटिंग पर अंक मिलते हैं, इसे छात्र समझेंगे

टॉपर्स की लिखावट को जान पायेंगे 

बोर्ड की मानें तो राष्ट्रीय स्तर के टॉपर के साथ जोन और राज्य टॉपर को भी रखा जायेगा। इसमें छात्र यह जान पाएंगे कि राष्ट्रीय, जोन और राज्य टॉपर्स की कॉपी में क्या अंतर हैं। लोयला हाईस्कूल के गणित के शिक्षक संजय कुमार ने बताया कि टॉपर्स की कॉपी से छात्रों को बहुत फायदा होगा।

उत्तर लिखने के सही पैटर्न को हर छात्र समझें, इसके लिए यह शुरू किया जायेगा। हर स्कूल अपनी वेबसाइट पर भी इसे डाल सकेंगे। इसके अलावा स्कूल में टॉपर्स की उत्तर पुस्तिका को सैंपल बना कर पढ़ाई का फायदा छात्रों को होगा। -राजीव रंजन, सिटी कोआर्डिनेटर, सीबीएसई। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:New Initiative - The CBSE toppers copes will be sampled