ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरNew Education Policy : यूपी बोर्ड के माध्यमिक स्कूलों में गर्मी में और एक घंटा पढ़ाई

New Education Policy : यूपी बोर्ड के माध्यमिक स्कूलों में गर्मी में और एक घंटा पढ़ाई

भीषण गर्मी की मार झेल रहे तमाम सरकारी स्कूलों के छात्रों के लिए अब एक और चुनौती है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति कार्यक्रम के चलते यूपी बोर्ड ने स्कूलों में एक घंटे अतिरिक्त पढ़ाई का प्लान तैयार किया है। देख

New Education Policy : यूपी बोर्ड के माध्यमिक स्कूलों में गर्मी में और एक घंटा पढ़ाई
Alakha Singhप्रमुख संवाददाता,प्रयागराजSat, 04 May 2024 08:08 AM
ऐप पर पढ़ें

UPMSP: यूपी बोर्ड से संबद्ध प्रदेशभर के 27871 माध्यमिक स्कूलों में अब और एक घंटे पढ़ाई होगी। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के परिप्रेक्ष्य में शिक्षण की न्यूनतम अवधि सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह बदलाव किया गया है। इसके लिए इंटरमीडिएट एजुकेशन एक्ट 1921 में संशोधन करते हुए विशेष सचिव शासन उमेश चन्द्र ने शुक्रवार को महानिदेशक को नई समय सारिणी भेजी है। पहले एक अप्रैल से 30 सितंबर तक सुबह 730 से 1230 बजे तक और एक अक्तूबर से 31 मार्च तक सुबह 850 से 250 तक स्कूलों की टाइमिंग निर्धारित थी।

अब सभी माध्यमिक स्कूल एक अप्रैल से 30 सितंबर तक 730 से 130 बजे तक और एक अक्तूबर से 31 मार्च तक सुबह 930 से 330 बजे तक संचालित होंगे।

220 शिक्षण दिवस में न्यूनतम 1200 घंटे पढ़ाई
राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार एक शैक्षिक सत्र में 220 शिक्षण दिवसों में न्यूनतम 1200 घंटे का शिक्षण कार्य सुनिश्चित करने के लिए प्रतिदिन छह घंटे (प्रार्थना सभा और लंच को शामिल करते हुए) स्कूल संचालन अनिवार्य है। इसलिए इंटरमीडिएट एजुकेशन एक्ट 1921 में संशोधन करना पड़ा है। बदलाव के बाद स्कूल छह घंटे के लिए खुलेंगे। वर्तमान में 1100 घंटे का शिक्षण, पाठ्यसहगामी और पाठ्येत्तर क्रियाकलाप संपादित हो पाते हैं।

अगले सप्ताह से मिल सकती है मार्कशीट:
आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के परिणाम 20 अप्रैल 2024 को घोषित किए गए थे। रिजल्ट जारी हाने बाद अभी भी छात्रों को अपनी मार्कशीट व प्रमाणपत्र मिलने का इंतजार है। बोर्ड सचिव दिब्यकांत शुक्ल की ओर से दी गई सूचना के अनुसार सब कुछ ठीक रहा तो इसी सप्ताह से मार्कशीट स्कूलों में पहुंचना शुरू हो जाएगी। यानी अगले सप्ताह से छात्रों को अंकपत्र व प्रमाण पत्र बांटे जा सकते हैं। वहीं, बोर्ड पांचों क्षेत्रीय कार्यालयों में ग्रीवांश सेल खोलकर छात्र-छात्राओं की समस्याओं का निराकरण कर रहा है। यूपी बोर्ड की वार्षिक परीक्षा 2024 के परिणामों की बात करें तो 10वीं कक्षा में 89.55 प्रतिशत पास हुए हैं। वहीं, 12वीं कक्षा 82.60 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। 

Virtual Counsellor