class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लापरवाही : फॉर्म भरने में गलती, रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरे बिना ही वेबसाइट पर कर दिया अपलोड

image

रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरा नहीं और बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया। अब जब इंटर रजिस्ट्रेशन फॉर्म की त्रुटि में सुधार के लिये आवेदन का प्रिंट आउट विद्यालय निकाल रहे हैं तो ऐसा खुलासा हो रहा है। 

एजेंसी ने रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने में किस कदर गलतियां की हैं, इसकी पोल भी खुल रही है। यह स्थिति किसी एक विद्यालय की नहीं है बल्कि उन विद्यालयों के हजारों छात्रों के आवेदन के साथ ऐसा हुआ है। अब उन विद्यार्थियों के आवेदन फॉर्म को विद्यालय दोबारा भर रहे हैं। बता दें कि 200 स्कूलों के लगभग के पचास हजार छात्रों के आवेदन में गड़बड़ी की शिकायत आई थी। एजेंसी ने करीब दो माह तक रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने का काम किया था। 

एससी कैटेगरी के छात्र को कर दिया सामान्य कोटि में 
एजेंसी ने केवल फॉर्म ही खाली नहीं छोड़ा, बल्कि छात्रों के कैटेगरी कॉलम में भी हेरफेर कर दिया है। एससी कोटि के विद्यार्थी को सामान्य कोटि में डाल दिया है। ऐसे कई एससी कोटि के विद्यार्थी हैं, जिन्हें सामान्य कोटि का चालान शुल्क ले लिया गया है। वहीं, सामान्य कोटि के कई छात्रों को एससी कोटि में डाल दिया गया है। कोटि के अलावा एजेंसी ने विषय भरने में भी गलती की है।

इंटर रजिस्ट्रेशन की त्रुटि में सुधार अब 18 तक
सभी विद्यार्थियों के रजिस्ट्रेशन फार्म के त्रुटि में सुधार हो सके इसके लिए एक बार फिर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटर रजिस्ट्रेशन में सुधार की तिथि बढ़ा दी है। अब विद्यालय और कॉलेज 18 नवंबर तक त्रुटि में सुधार का चालान शुल्क जमा कर पायेंगे। इस दौरान विद्यालयों के प्रधान अपने विद्यालय के छूटे हुए विद्यार्थियों का नया रजिस्ट्रेशन भी कर सकते हैं। ज्ञात हो कि इंटर रजिस्ट्रेशन में आवश्यक सुधार के लिए 14 नवंबर को अंतिम तिथि थी। लेकिन सुधार पूरा नहीं होने के कारण 18 तक तिथि बढ़ा दी गयी है।  

नये पैटर्न पर इंटर सेंटअप एग्जाम शुरू
पटना। इंटरमीडिएट 2018 की वार्षिक परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए सेंटअप परीक्षा मंगलवार से शुरू हो गयी है। तमाम विद्यालयों और कॉलेजों में परीक्षा शुरू हो गयी है। परीक्षा 20 नवंबर तक चलेगी। परीक्षा पूरी तरह से नये पैटर्न पर ली जा रही है। नये पैटर्न पर प्रश्न पत्र तैयार किया गया है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की मानें तो नये पैटर्न की जानकारी विद्यालय और कॉलेजों को एक नवंबर को दे दी गई थी। वार्षिक परीक्षा में विद्यार्थियों को दिक्कत न हो, इसके लिए नये पैटर्न पर परीक्षा ली गयी है। समिति की मानें तो इंटर साइंस, आर्ट्स , कॉमर्स और वोकेशनल संकाय में सैद्धांतिक और प्रायोगिक परीक्षा को 50-50 फीसदी कर दिया गया है। सैद्धांतिक परीक्षा में 50 फीसदी प्रश्न पूछे गए हैं। परीक्षा के पहले दिन साइंस के फिजिक्स और आर्ट्स के इतिहास विषय की परीक्षा ली गयी। प्रश्न पत्र पर भी नये पैटर्न की जानकारी विद्यार्थियों को दे दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Negligence in filling bihar board intermediate examination form
10 साल में पहली बार बदलेगा यूजीसी ‘नेट’ का सिलेबस, जल्द होगा फैसलाआईसीएसआई ने राष्ट्रीय कौशल विकास निगम से किया करार, सीएस एग्जाम में फेल छात्रों को जीएसटी से मिलेगी नौकरी