ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरNEET UG: एनटीए अधिकारियों पर हेराफेरी करने का आरोप

NEET UG: एनटीए अधिकारियों पर हेराफेरी करने का आरोप

NEET UG:सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर एमबीबीएस सहित अन्य स्नातक स्तरीय चिकित्सा पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आयोजित राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-यूजी) 2024 में राष्ट्रीय परीक्षण एजेंस

NEET UG: एनटीए अधिकारियों पर हेराफेरी करने का आरोप
Anuradha Pandeyविशेष संवाददाता,नई दिल्लीTue, 25 Jun 2024 07:47 AM
ऐप पर पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर एमबीबीएस सहित अन्य स्नातक स्तरीय चिकित्सा पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आयोजित राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-यूजी) 2024 में राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) के अधिकारियों की संलिप्तता की जांच कराने की मांग की गई है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि नीट-यूजी 2024 में अन्य अनियमितताओं के अलावा, एनटीए के अधिकारी ओएमआर शीट में हेराफेरी करने में शामिल रहे हैं।

जस्टिस मनोज मिश्रा और एसवीएन भट्टी की अवकाशकालीन पीठ ने सोमवार को संक्षिप्त सुनवाई के बाद याचिकाकर्ता को इसी मांग को लेकर हाई कोर्ट में दाखिल याचिका को वापस लेने का निर्देश दिया। पीठ ने कहा कि मौजूदा याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई की जाएगी। पीठ ने यह आदेश तब दिया, जब एनटीए की ओर से पेश अधिवक्ता ने कहा कि इसी मांग को लेकर याचिकाकर्ता ने हाई कोर्ट में भी याचिका दाखिल की है। इस पर याचिकाकर्ता सबरीश राजन की ओर से अधिवक्ता रवि कुमार ने पीठ को बताया कि इस मांग को लेकर हाई कोर्ट में दाखिल की गई थी, लेकिन हाई कोर्ट ने यह कहते हुए सुनवाई करने से इनकार कर दिया था कि मामला शीर्ष अदालत में लंबित है।

इसके बाद शीर्ष अदालत ने याचिकाकर्ता को हाई कोर्ट ने याचिका वापस लेने का निर्देश दिया और कहा कि मौजूदा याचिका में जो आरोप लगाया गया है कि वह पूरी तरह से अलग तथ्यों और आधारों पर है। याचिका में एनटीए अधिकारियों पर ओएमआर शीट में हेराफेरी करने का आरोप लगाया है। नीट यूजी में धांधली और पेपर लीक के आरोप में सीबीआई जांच की मांग और दोबारा से परीक्षा कराने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में कई याचिकाएं लंबित है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और एनटीए से जवाब मांगा है और मामलों की सुनवाई 8 जुलाई तय है।

Virtual Counsellor