DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

NEET 2018: तमिल में नीट परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स को 196 ग्रेस मार्क्स देने का आदेश

cbse neet 2018

मद्रास हाईकोर्ट ने तमिल भाषा में नीट 2018 परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स को बड़ी राहत दी है। मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने सीबीएसई को तमिल भाषा में मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET देने वाले स्टूडेंट्स को 196 ग्रेस मार्क्स देने के लिए कहा है। साथ ही हाईकोर्ट ने सीबीएसई को अगले 2 हफ्ते के भीतर नई रैंकिंग लिस्ट जारी करने के निर्देश भी दिए हैं।

कोर्ट ने नीट परीक्षा में तमिल भाषा में छपे पेपर में 49 सवालों के गलत अनुवाद पर ये फैसला सुनाया है। तमिल भाषा में परीक्षा देने वाले छात्रों को इस फैसले से फायदा होगा। नीट का पेपर कुल 720 अंकों का था। 

करीब 24,500 स्टूडेंट्स ने तमिल भाषा में नीट परीक्षा दी थी। 

देश भर के सरकारी और निजी मेडिकल संस्थानों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्स में दाखिले के लिए नीट परीक्षा आयोजित की जाती है। सीबीएसई ने 6 मई, 2018 को यह परीक्षा आयोजित की थी। 4 जून को इसका रिजल्ट घोषित किया गया था। 

याचिकाकर्ता और माकपा के राज्यसभा सांसद टी. के. रंगराजन ने दावा किया था कि नीट प्रश्न पत्र में 49 सवालों का तमिल अनुवाद गलत किया गया है। इसके लिए उन्होंने इन प्रश्नों में स्टूडेंट्स को फुल मार्क्स देने की मांग की थी। 

NEET 2018 की परीक्षा में करीब 13 लाख छात्र शामिल हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NEET Results 2018: Madras High Court directs CBSE to give 196 grace marks to students who wrote NEET in Tamil