ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरदोषियों को किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे, जांच के लिए बना रहे हाई लेवल कमेटी; NEET मामले में शिक्षा मंत्री का ऐलान

दोषियों को किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे, जांच के लिए बना रहे हाई लेवल कमेटी; NEET मामले में शिक्षा मंत्री का ऐलान

NEET paper leak case: नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट NEET के कथित पेपर लीक और ग्रेस मार्क्स मामले के बीच आज केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि इन मामलों की जांच के लिए किसी भी

दोषियों को किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे, जांच के लिए बना रहे हाई लेवल कमेटी; NEET मामले में शिक्षा मंत्री का ऐलान
Anuradha Pandeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 20 Jun 2024 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) को लेकर मचे घमासान के बीच आज केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि इन मामलों की जांच के लिए किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाशत नहीं की जाएगी। इस मामले में जांच के लिए सरकार ने हाई लेवल कमेटी बनाने की घोषणा की है। हाई लेवल कमेटी एनटीए को और बेहतर करने के लिए सिफारिश देगी। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार किसी भी गुनहगार को नहीं छोड़ेगी, जीरो एरर परीक्षा कराना ही सरकार की प्राथमिकता रही है। उन्होंने कहा कि NEET परीक्षा के संबंध में हमें बिहार सरकार की ओर से लगातार संपर्क में हैं, सरकार ने कहा कि पटना पुलिस से जानकारी मिली है और इस मामले में पटना पुलिस का काम सराहनीय है। उन्होंने यह भी कहा कि चाहे एनटीए या एनटीए में कोई भी हो, छात्रों का भविष्य सबसे ऊपर है। 

क्या होगा हाई लेवल कमेटी का काम
नीट पेपर लीक मामले में शिक्षा मंत्रालय ने एक हाई लेवल कमेटी का गठन करने की घोषणा की है। यह कमेटी एनटीए, इसकी संरचना, कार्यप्रणाली, परीक्षा प्रक्रिया, पारदर्शिता और डेटा सुरक्षा प्रोटोकॉल को और बेहतर बनाने के लिए सिफारिशों देंगी। दोषी पाए जाने पर एनटीए के किसी भी अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। हाई लेवल कमेटी डिटेल्‍ड रिपोर्ट जल्‍द भारत सरकार को भेजेगी।

NEET मामले को लेकर पटना पुलिस से संपर्क में हैं
हमें बिहार सरकार से नीट परीक्षा के बारे में काफी इनपुट मिला है, अभी पटना पुलिस मामले की जांच कर रही है और वह जल्द ही भारत सरकार को विस्तृत रिपोर्ट भेजेगी। प्रारंभिक जानकारी से पता चलता है कि एरर एक विशिष्ट क्षेत्र तक ही सीमित था।

UGC NET परीक्षा मामले पर क्या बोले शिक्षा मंत्री
यूजीसी नेट परीक्षा रद्द के मामले में साइबर क्राइम ट्रैक करने वाली एजेंसी ने जानकारी दी कि डार्क नेट में सवाल आ गया है और इसका मैच NTA के ओरिजिनल सवाल से हो गया। ये एक से थे। इसलिए हमने तत्‍काल निर्णय लिया कि इसकी फौरन जांच हो। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म टेलीग्राम के फॉरवर्ड की जांच करने के लिए हाई लेवल जांच जरूरी है। ऐसे में हमने माना कि परीक्षा में कोई गड़बड़ी हुई है।

 

Virtual Counsellor
Advertisement