ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरNEET UG: 10 दिन, 4 परीक्षा और 38 लाख छात्र का करियर दांव पर

NEET UG: 10 दिन, 4 परीक्षा और 38 लाख छात्र का करियर दांव पर

NEET Paper Leak: नीट यूजी पेपर लीक मामले में अब सीबीआई को कमान सौंप दी गईहै। 23 जून को 1563 स्टूडेंट्स का नीट का रिएग्जाम  हो चुका है। मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में हैं, क्योंकि कईयाचिकाओं पर कोर्ट कोर्

NEET UG: 10 दिन, 4 परीक्षा और 38 लाख छात्र का करियर दांव पर
neet-protest-0 jpg
Anuradha Pandeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 24 Jun 2024 09:07 AM
ऐप पर पढ़ें

नीट यूजी पेपर लीक मामले में अब सीबीआई को कमान सौंप दी गई है। 23 जून को  ग्रेस मार्क्स वाले स्टूडेंट्स का नीट का रिएग्जाम  हो चुका है। ऐसे में नीट देने वाले 23 लाख स्टूडेंट्स इससे प्रभावित हुए हैं। नीट का मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में हैं, क्योंकि कई याचिकाओं पर कोर्ट को सुनवाई करनी है, इन पर 8 जुलाई को सुनवाई होगी, लेकिन इन सभी के बीच 38 लाख स्टूडेंट्स ऐसे हैं, जिनका करियर इस समय दांव पर लगा हुआहै, इनमें से किसी की परीक्षा स्थगित हुई है, तो कुछ का करियर पेपर लीक की काली छाया के कारण दांव पर लगा हैं। आइए जानते हैं, पिछले 10 दिनों में नीट यूजी समेत कौन से एग्जाम हैं, जिनसे 38 लाख स्टूडेंट्स करियर का जुड़ा है।

नीट पीजी
नीट यूजी का विवाद अभी थमने का नाम नहीं ले रहा था कि शनिवार को नीट-पीजी परीक्षा भी स्थगित कर दी गई। यह परीक्षा 23 जून को होने वाली थी और करीब इसमें 2 लाख, 28हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स भाग लेने वाले थे। आपको बता दें कि नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनिशेन फॉर मेडिकल साइंसेज (एनबीईएमएस) इस परीक्षा का आयोजन कराता है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे स्थगित करने के पीछे तर्क दिया है कि कुछ प्रतियोगी परीक्षाओं की अखंडता पर आरोपों की हालिया घटनाओं को देखते हुए फैसला किया गया है कि नीट-पीजी प्रवेश परीक्षा की प्रक्रिया की मजबूती का संपूर्ण विश्लेषण किया जाना जरूरी है।

सीएसआईआर-यूजीसी-नेट परीक्षा
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की सीएसआईआर-यूजीसी-नेट परीक्षा 25 जून से 27 जून के बीच होनी थी, जो अभी स्थगित कर दी गईहै और इसके स्थगित होने को लेकर कोई कारण नहीं बताया गया है. आपको बचा दें कि संयुक्त सीएसआईआर-यूजीसी नेट परीक्षा जून-2024, जूनियर रिसर्च फेलोशिप के पुरस्कार और सहायक प्रोफेसर के रूप में नियुक्ति और पीएचडी में प्रवेश के लिए भारतीय नागरिकों की पात्रता निर्धारित करने के लिए एक परीक्षा है। इस परीक्षा में भी दो लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स शामिल हुए थे।

यूजीसी नेट
असिस्टेंट प्रोफेसर और फेलोशिप की योग्यता के साथ पहली बार पीएचडी एडमिशन के लिए यूजीसी नेट 18 जून को हो चुक था, लेकिन पेपर लीक की काली छाया के कारण इसे सरकार ने रद्द कर दिया है। देश के शिक्षा मंत्री ने बताया कि डार्कनेट और टेलीग्राम पर यह एग्जाम का कुछ हिस्सा वायरल हो गया था, अब इसको देने वाले स्टूडेंट्स की संख्या की बात करें तो 11 लाख ने यह एग्जाम देना था। 
 

Virtual Counsellor