ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरNEET, NET Row: परीक्षा सुधारों पर केंद्र के हाई लेवल पैनल की आज बैठक-रिपोर्ट

NEET, NET Row: परीक्षा सुधारों पर केंद्र के हाई लेवल पैनल की आज बैठक-रिपोर्ट

NEET, NET Row: प्रतियोगी परीक्षाओं में अनियमितताओं को लेकर विवाद के बीच शिक्षा मंत्रालय ने शनिवार को पूर्व भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) प्रमुख के राधाकृष्णन की अध्यक्षता में सात सदस्यीय पैनल

NEET, NET Row: परीक्षा सुधारों पर केंद्र के हाई लेवल पैनल की आज बैठक-रिपोर्ट
Anuradha Pandeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 24 Jun 2024 10:11 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रतियोगी परीक्षाओं में अनियमितताओं को लेकर विवाद के बीच शिक्षा मंत्रालय ने शनिवार को पूर्व भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) प्रमुख के राधाकृष्णन की अध्यक्षता में सात सदस्यीय पैनल गठित किया था। यह पैनल नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के जरिए होने वाले एग्जाम के पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन के लिए जरूरी सिफारिशों पर काम करेगा। कहा जा रहा है कि इस पैनल की पहली बैठक आज होगी। यह भी कहा जा रहा है कि दो महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपने की उम्मीद है। जिन सुधारों की सिफारिश की जाएंगी, उन्हें अगले परीक्षा चक्र तक लागू किया जाएगा। इसके अलावा पैनल परीक्षा कैलेंडर पर भी गौर करेगा और सुझाव देगा। 

पैनल एग्जाम प्रोसेस सिस्टम में सुधार, डेटा सुरक्षा प्रोटोकॉल में सुधार और एनटीए की संरचना और कार्यप्रणाली पर सिफारिशें करेगा। एम्स-दिल्ली के पूर्व निदेशक रणदीप गुलेरिया, हैदराबाद विश्वविद्यालय के कुलपति बीजे राव, आईआईटी-मद्रास के सिविल इंजीनियरिंग विभाग में प्रोफेसर एमेरिटस के राममूर्ति, पीपल स्ट्रॉन्ग के सह-संस्थापक और कर्मयोगी भारत बोर्ड के सदस्य पंकज बंसल, आईआईटी-दिल्ली के डीन ऑफ स्टूडेंट मामलों के आदित्य मित्तल और शिक्षा मंत्रालय के संयुक्त सचिव गोविंद जयसवाल पैनल के अन्य सदस्य हैं।

दरअसल, पांच मई को आयोजित हुई नीट-यूजी की परीक्षा में इन छह सेंटरों पर छात्रों ने समय के नुकसान की बात कही थी, जिसके बाद इन्हें एनटीए ने ग्रेस अंक दे दिया था। विवाद के बाद कुल 1563 छात्रों के लिए दोबारा परीक्षा आयोजित करवाई गई। रविवार दोपहर 2 बजे से शाम 520 बजे तक परीक्षा आयोजित की गई। इस दौरान सभी सेंटरों पर पर्याप्त सुरक्षा की व्यवस्था की गई। इस बीच, एनटीए ने रविवार को 17 उम्मीदवारों को परीक्षा से बाहर कर दिया, जो 5 मई को बिहार के केंद्रों पर परीक्षा में शामिल हुए थे। अधिकारियों के मुताबिक, इन 17 अभ्यर्थियों के बारे में कदाचार का पता चलने के बाद परीक्षा में शामिल होने से रोका गया।

 

Virtual Counsellor
Advertisement