ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरNEET MBBS admission: एम्स में एमबीबीएस में कितने स्टूडेंट्स ले सकते हैं एडमिशन

NEET MBBS admission: एम्स में एमबीबीएस में कितने स्टूडेंट्स ले सकते हैं एडमिशन

MBBS in AIIMS नीट यूजी 2024 का रिजल्ट जारी हो चुका है। इस एग्जाम में 67 उम्मीदवारों की पहली रैंक आई है। ऐसे में अब स्टूडेंट्स एमबीबीएस एडमिशन के लिए होने वाली काउंसलिंग में भाग लेंगे। अधिकतर स्टूडेंट्

NEET MBBS admission: एम्स में एमबीबीएस में कितने स्टूडेंट्स ले सकते हैं एडमिशन
Anuradha Pandeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 06 Jun 2024 04:35 PM
ऐप पर पढ़ें

नीट यूजी 2024 का रिजल्ट जारी हो चुका है। इस एग्जाम में 67 उम्मीदवारों की पहली रैंक आई है। ऐसे में अब स्टूडेंट्स एमबीबीएस एडमिशन के लिए होने वाली काउंसलिंग में भाग लेंगे। एम्स देश का नंबर वन मेडिकल संस्थान है, ऐसे में अधिकतर स्टूडेंट्स का सपना एम्स में एडमिशन लेना होता है। सीटों की बात करें तो 2023 में एम्स नई दिल्ली में कुल 132 सीटें थीं, जिनमें से तीन ओपन-पीडब्ल्यूडी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए और 11 सामान्य-ईडब्ल्यूएस श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए निर्धारित हैं, ओबीसी के लिए 32, एससी के लिए 18, एसटी के लिए नौ और एससी-पीडब्ल्यूडी और जनरल-ईडब्ल्यूएस पीडब्ल्यूडी के लिए एक-एक सीट है, वहीं ओबीसी-पीडब्ल्यूडी के लिए दो सीटें निर्धारित की गईं।

कितने नंबर पर सीट
अगर आपके 700 से ज्यादा अंक है, तो आपको एम्स नई दिल्ली या फिर जिपमर में एमबीबीएस में एडमिशन मिल सकता है। एम्स में एडमिशन के लिए अब स्टूडेंट्स को एम्स में एडमिशन के लिए NEET काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करने के लिए कटऑफ मानदंडों को पूरा करना होगा और फिर वे काउंसलिंग में भाग लेने के दौरान अपनी पहली प्राथमिकता के रूप में एम्स दिल्ली को चुन सकते हैं।

ग्रेस मार्क्स के कारण इस बार बढ़ें नंबर

नीट यूजी- 2024 में रिकॉर्ड 67 टॉपरों को लेकर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने बुधवार को कई कारण गिनाए। कहा कि ऐसा तुलनात्मक रूप से आसान पेपर, ज्यादा रजिस्ट्रेशन, दो सही उत्तर वाले एक प्रश्न और ग्रेस मार्क्स से हुआ। रिकॉर्ड संख्या में छात्रों को 720 अंक मिलने के बारे में पूछे जाने पर एनटीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि परीक्षा में एक प्रश्न ऐसा आया था, जिसके एनसीईआरटी की किताब में हुए बदलाव के अनुसार दो सही उत्तर थे। इसीलिए दो विकल्प सही घोषित किए गए और 44 अभ्यर्थियों के अंक 715 से बढ़कर 720 हो गए। यह मुद्दा भी उठा कि कुल 720 अंक संभव होने के साथ, दूसरा उच्चतम प्राप्त करने योग्य अंक 716 है, लेकिन छात्रों को 718 व 719 अंक मिले। एनटीए ने बताया कि यह ग्रेस मार्क्स के कारण हुआ है। जिन उम्मीदवारों ने नीट यूजी 2024 के दौरान टाइम लॉस की सूचना दी थी, उन्हें ग्रेस मार्क्स दिए गए हैं। ऐसा सर्वोच्च न्यायालय के एक आदेश के तहत किया गया।

Virtual Counsellor