DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  NEET और JEE Main परीक्षाओं पर आया शिक्षा मंत्रालय का बयान, जानें क्या कहा
करियर

NEET और JEE Main परीक्षाओं पर आया शिक्षा मंत्रालय का बयान, जानें क्या कहा

एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Pankaj Vijay
Sat, 19 Jun 2021 08:08 AM
NEET और JEE Main परीक्षाओं पर आया शिक्षा मंत्रालय का बयान, जानें क्या कहा

NEET , JEE Main 2021 : केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन के दो शेष चरणों और अगस्त में मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट आयोजित करने के बारे में जल्द ही कोई निर्णय ले सकता है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ''स्थिति की समीक्षा की जा रही है ताकि जेईई मेन के लंबित दो चरणों के कार्यक्रम तथा एक अगस्त को नीट यूजी प्रवेश परीक्षा  ( NTA NEE UG Exam 2021 )के आयोजन के बारे में निर्णय किया जा सके । 

इस अकादमिक सत्र से जेईई मेन की प्रवेश परीक्षा साल में चार चरणों में आयोजित की जा रही है ताकि छात्रों को सुविधा रहे और उन्हें स्कोर बेहतर करने कर अवसर प्राप्त हो सके। इसके तहत प्रथम चरण का आयोजन फरवरी में तथा दूसरे चरण का आयोजन मार्च में हो चुका है। तीसरे चरण का आयोजन अप्रैल तथा चौथे चरण का आयोजन मई में होना था लेकिन कोरोना वायरस महामारी के प्रसार के कारण प्रवेश परीक्षा का तीसरा एवं चौथा चरण स्थगित कर दिया गया था। 
     
इसके अलावा जेईई एडवांस प्रवेश परीक्षा को भी स्थगित कर दिया गया था। इसका आयोजन 3 जुलाई को होना था। नीट यूजी के बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है । 

AIIMS और IIT के पूर्व छात्र दे रहे हैं NEET व JEE Main की फ्री कोचिंग
     
इसके अलावा मंत्रालय को सेंट्रल यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (सीयूसीईटी) को लेकर भी फैसला लेना है। 

वहीं गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सीबीएसई ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट फॉर्मूला पेश किया जिसे शीर्ष अदालत ने मंजूरी दे दी। अब सीबीएसई 12वीं कक्षा के स्टूडेंट्स का रिजल्ट उनकी पिछले तीन सालों की परफॉर्मेंस के आधार पर जारी करेगा। यानी 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा में जिसका जितना अच्छा प्रदर्शन रहा होगा, उसके उतने ही अच्छे मार्क्स आएंगे। 10वीं और 11वीं कक्षा के मार्क्स को 30-30 प्रतिशत वेटेज और 12वीं कक्षा में परफॉर्मेंस (प्री बोर्ड, मिड टर्म, यूनिट एग्जाम) को 40 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा।

स्टूडेंट्स के कक्षा 10वीं के 5 में से  बेस्ट 3 पेपरों के मार्क्स लिए जाएंगे। 11वीं कक्षा के सभी थ्योरी पेपरों के मार्क्स लिए जाएंगे। वहीं कक्षा 12वीं में स्टूडेंट्स के यूनिट, टर्म व प्रैक्टिकल एग्जाम के मार्क्स लिए जाएंगे। 

सीबीएसई 12वीं कक्षा का रिजल्ट फॉर्मूला 
12वीं कक्षा - यूनिट टेस्ट, मिड टर्म और प्री-बोर्ड एग्जाम की परफॉर्मेंस के आधार पर मार्क्स मिलेंगे। इसका वेटेज 40 फीसदी होगा।
11वीं कक्षा - फाइनल एग्जाम में सभी विषयों के थ्योरी पेपर की परफॉर्मेंस के आधार पर मार्क्स मिलेंगे। इसका वेटेज 30 फीसदी होगा।
10वीं कक्षा - प्रमुख 5 विषयों में से तीन विषयों के थ्योरी पेपर के परफॉर्मेंस के आधार पर मार्क्स मिलेंगे। पांच में से तीन विषय वे होंगे जिनमें स्टूडेंट का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा होगा। इसका वेटेज भी 30 फीसदी होगा।

संबंधित खबरें