ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरNEET : MBBS दाखिले के लिए पहला ड्राफ्ट बनवाया स्वास्थ्य मंत्रालय के नाम, फिर शुरू हुआ ठगी का बड़ा खेल

NEET : MBBS दाखिले के लिए पहला ड्राफ्ट बनवाया स्वास्थ्य मंत्रालय के नाम, फिर शुरू हुआ ठगी का बड़ा खेल

नीट पास छात्र के एमबीबीएस एडमिशन के लिए हुई काउंसलिंग में कुछ नंबर कम रह गए थे। ठगों ने उसे सरकारी कोटे की सीट दिलाने का झांसा दिया। इसके बाद उससे 15 दिनों के भीतर कुल 22 लाख रुपये जमा करवा लिए।

NEET : MBBS दाखिले के लिए पहला ड्राफ्ट बनवाया स्वास्थ्य मंत्रालय के नाम, फिर शुरू हुआ ठगी का बड़ा खेल
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 31 Oct 2023 09:32 AM
ऐप पर पढ़ें

सरकारी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की सीट दिलाने का झांसा देकर लाखों रुपये की ठगी करके फरार हुए चार लोगों के खिलाफ देहरादून के पटेलनगर थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। इन आरोपियों ने कमला पैलेस तिराहे के पास दफ्तर खोला हुआ था। शुरुआती जांच में 13 पीड़ित सामने आए हैं, जिनमें से एक की तहरीर पर यह कार्रवाई की गई। इंस्पेक्टर सूर्यभूषण सिंह नेगी ने बताया कि महाराष्ट्र निवासी पंजाब सिंह, धरम सिंह बावरी ने तहरीर दी। उन्होंने कमला पैलेस तिराहे के पास एक्सीलेंट एजुकेशन प्रथम तल कॅरियर हाउस के शैक्षिक कंसलटेंट विनायक, मानव, अमित कुमार उर्फ नितेश और समीक्षा ने संपर्क किया। उनका बेटा एमबीबीएस में एडमिशन के लिए हुई काउंसलिंग में कुछ नंबर से चूक गया था। उनके बेटे को आरोपियों ने सरकारी कोटे की सीट दिलाने का झांसा दिया। इसके बाद तीन अक्तूबर से 17 अक्तूबर के बीच उनसे कुल 22 लाख रुपये जमा करवा लिए।

आरोप है कि इस तरह कई और लोगों से भी रकम ठगी। 21 अक्तूबर से आरोपी अपने फोन नंबर बंद कर लापता हो गए। इंस्पेक्टर ने बताया कि चारों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है। इन आरोपियों ने यूपी, दिल्ली, हरियाणा समेत कई राज्यों के लोगों को भी इसी तरह चूना लगाया है।

MBBS में एडमिशन लेने वाले 860 छात्रों के भविष्य पर संकट, राहत के आसार

पहला ड्राफ्ट केंद्र सरकार के नाम बनवाया 
आरोपियों के गैंग ने लोगों को शातिर तरीके से विश्वास में लिया। छात्रों के परिजनों ने जब फीस की बात की तो कहा गया कि सबसे पहले 50 हजार का बैंक ड्राफ्ट स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के नाम बनाना होगा, जिसमें से आठ हजार रुपये रजिस्ट्रेशन फीस होगी और 42 हजार रुपये वापस हो जाएंगे। इसके बाद आरोपियों ने कहा कि एमबीबीएस में दाखिले की फीस 35 लाख रुपये होगी, जिसका 10 से 20 प्रतिशत टोकन मनी के रूप में देना होगा। यह धनराशि बैंक ऑफ इंडिया की आईएसबीटी शाखा में जमा करवाई गई। 18 अक्तूबर को आरोपियों ने अपने स्टाफ से कहा कि इंस्टीट्यूट दशहरा के चलते 18 से 24 नवंबर तक बंद रहेगा। इसी बीच आरोपी सामान समेटकर फरार हो गए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें