DA Image
19 जनवरी, 2021|5:11|IST

अगली स्टोरी

NEET 2020 : केंद्रीय कोटे की 72 सीटें बिहार को मिलीं

neet counselling 2020

बिहार के मेडिकल कॉलेजों में 85 प्रतिशत सीटों के अलावा केंद्रीय कोटे के तहत बची हुई सीटों पर भी एडमिशन होगा। इस बार बिहार को 72 सीटें अधिक मिल गयी हैं। बढ़ी हुई 72 सीटें बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद (बीसीईसीईबी) सेकेंड काउंसिलिंग में शामिल करेगा। गौरतलब है कि 15 प्रतिशत सीटों पर मेडिकल काउंसिलिंग कमेटी (एमसीसी) की ओर से सेकेंड राउंड तक एडमिशन हुआ है। सेकेंड राउंड की एडमिशन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद बिहार की बची 72 सीटों को एमसीसी ने लौटा दिया है। इसे एमसीसी ने बिहार को 10 दिसंबर को वापस किया था। इधर ओबीसी कोटे में जितनी सीटें मेडिकल कॉलेजों में हैं उससे कम सीटें दिखाई जा रही हैं। 

इधर, केंद्रीय कोटा 15 प्रतिशत के तहत बिहार के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों को मिला कर 200 सीटों पर एडमिशन होता है, लेकिन इस बार एमसीसी के अंतिम राउंड तक 200 सीटों में से मात्र 128 सीटों पर ही एडमिशन हुआ। बाकी सीटें बिहार को वापस मिल गयीं। इस पर एक्सपर्ट ने कहा कि बिहार को 72 सीटें मिलने के कारण इस बार बिहार के 25 से 30 स्टूडेंट्स को फायदा मिल जाएगा। गोल इंस्टीट्यूट के निदेशक विपिन सिंह ने कहा कि 72 सीटें मिलने से बिहार को अधिक डॉक्टर मिलेंगे। इस बार अंतिम कटऑफ के नजदीक रहने वाले 25 से अधिक छात्र को फायदा मिलेगा। यह 25 लोग वे होंगे जिन्हें स्टेट कोटे के तहत एडमिशन नहीं मिलता।

1172 एमबीबीएस और बीडीएस सीटों पर एडमिशन
राज्य के 85 प्रतिशत में एमबीबीएस और बीडीएस मिला कर 1100 सीटों पर इस बार एडमिशन होगा। बीसीईसीईबी के अनुसार बिहार के सरकारी मेडिकल और डेंटल कॉलेज में एमबीबीएस व बीडीएस की 1330 सीटें हैं। 15 प्रतिशत केंद्र के कोटे के तहत 200 सीटों पर बिहार के मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन होना था, जिसमें मात्र 128 सीटों पर एडमिशन हुआ। इसके साथ 30 सीटें केंद्रीय कोटे के तहत आरक्षित हैं। इस प्रकार बीसीईसीईबी के तहत 1070 सरकारी एमबीबीएस और 30 सरकारी बीडीएस सीटों पर एडमिशन होगा। टोटल 1100 में 72 सीटें और बढ़ गयी हैं, तो इस बार 1172 सीटों पर एडमिशन होगा। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:NEET 2020 : vacant mbbs bds seats of medical all india quota merged in BCECE bihar medical colleges seats