NEET 2019 : Quick analysis and expected cut off know What students said after the exam - NEET 2019: जानें कैसा था प्रश्न पत्र, कितनी रह सकती है कटऑफ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

NEET 2019: जानें कैसा था प्रश्न पत्र, कितनी रह सकती है कटऑफ

neet 2019

NEET 2019 : नेशनल इलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) रविवार को संपन्न हो गया। परीक्षा को लेकर सभी केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा दिखी। पटना के अलावा गया में केंद्र बनाये गये थे। पटना में 57 व गया में चार केंद्रों पर परीक्षा हुई।  2018 की तुलना में इस बार प्रश्न आसान रहे। विशेषज्ञों की मानें तो तीनों विषयों में सारे प्रश्न एनसीईआरटी सिलेबस से पूछे गए। 11वीं और 12वीं दोनों से सवाल आए थे। कुल 180 प्रश्नों में भौतिकी और रसायन से 45-45 और जीविवज्ञान से 90 सवाल थे। प्रश्न आसान होने से उम्मीद की जा रही है कि कटऑफ अधिक जायेगा। 

10 फीसदी अभ्यर्थी रहे अनुपस्थित
समय से केंद्र पर नहीं पहुंचने से कई अभ्यर्थियों की परीक्षा छूट गयी। प्रदेशभर से 84 हजार 443 अभ्यर्थियों को शामिल होना था। इनमें पटना के केंद्रों पर 52 हजार 420 और गया में 32 हजार 23 अभ्यर्थियों की परीक्षा थी। दोनों जगहों को मिलाकर करीब 10 फीसदी अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए। एनटीए बिहार के को-ऑर्डिनेटर की मानें तो हर केंद्र पर छात्रों की अनुपस्थिति देखी गयी है। केंद्र पर देरी से पहुंचने के कारण कई छात्रों को परीक्षा से वंचित कर दिया गया। प्रश्नपत्रों की सुरक्षा के लिए सभी बॉक्स में इलेक्ट्रॉनिक लॉक लगाया गया था। जीपीएस सिस्टम भी लगा था। इससे प्रश्नपत्र बॉक्स की पूरी मॉनिटरिंग हो रही थी। केंद्र पर बॉक्स को खोलने से पहले एनटीए द्वारा सभी केंद्राधीक्षकों को एक एप डाउनलोड करने का निर्देश दिया गया। एप डाउनलोड करने के बाद पासवर्ड दिया गया। यह पासवर्ड अंकों का था। इस पासवर्ड से सभी केंद्राधीक्षकों ने इलेक्ट्रॉनिक लॉक को खोला।

NTA NEET exam 2019: चेकिंग के दौरान जांचे छात्रों के कान, आंखों से चश्मे और पांव से जूते भी उतरवाए

75 से 76 कटऑफ रहने की संभावना
गोल इंस्टीट्यूट के मैनेजिंग डायरेक्टर विपिन सिंह के अनुसार, नीट में फिजिक्स से 45, केमिस्ट्री से 45 एवं बायोलॉजी से 90 प्रश्न पूछे गए थे। इस विषय में पूछे गए प्रश्नों का स्तर पिछले वर्ष की तुलना में आसान था। लगभग 60 प्रतिशत प्रश्न आसान थे और 25 प्रतिशत प्रश्न थोड़े अधिक कान्सेप्ट बेस्ड थे। 15 प्रतिशत प्रश्न कठिन थे। लगभग सभी प्रश्न एनसीईआरटी के किताब से पूछे गए थे। विपिन सिंह के मुताबिक 75 से 76 अंक पर जनरल कैटेगरी के छात्रों को ऑल इंडिया 15 प्रतिशत कोटा से एमबीबीएस मिलने की संभावना है। .

मेंटर्स एडुसर्व के निदेशक आनंद जायसवाल के मुताबिक, नीट में भौतिकी में 23 सवाल कक्षा 11वीं और 22 प्रश्न 12वीं से पूछे गए थे। इसी तरह बायोलॉजी में कुल 41 प्रश्न 11वीं और 49 प्रश्न 12वीं से पूछे गए थे। रसायन शास्त्र में 23 प्रश्न 11वीं और 22 प्रश्न 12वीं से पूछे गए थे। उन्होंने बताया कि छात्र नीट 2019 पेपर का हल एवं विस्तारपूर्वक विश्लेषण संस्थान की वेबसाइट पर देख सकते हैं। नीट की तैयारी के लिए नया बैच 16 एवं 23 मई से शुरू हो रहा है। 

सामान्य वर्ग में करीब 560 अंक लाने होंगे
आईआईटीयंस तपस्या ने नीट 2019 के कटऑफ बढ़ने की उम्मीद जताई है। रविवार को नीट के बाद संस्थान के निदेशक पंकज कपाड़िया ने बताया कि सामान्य वर्ग में लगभग 560 अंक लाने होंगे। बताया कि फिजिक्स केमेस्ट्री और बायोलॉजी के कई प्रश्न आईआईटीयंस तपस्या के टेस्ट सीरीज से मिल रहे हैं। नीट में 11वीं से 22 और 12वीं से 23 प्रश्न पूछे गये। संस्थान के सह निदेशक रितेश सिंह ने बताया कि नीट 2019 में शामिल छात्रों के लिए एम्स की परीक्षा के लिए नि:शुल्क प्रैक्टिस टेस्ट 10 मई से होगा। .

जानें क्या कहा स्टूडेंट्स ने
भौतिकी के प्रश्न कठिन थे। जीवविज्ञान के कई प्रश्न थोड़ा घुमावदार लगे। जीव विज्ञान के उत्तर देने में समय अधिक लग गया। भौतिकी के कई प्रश्न तो छूट गये। - रिशिता, परीक्षार्थी.

केंद्र पर जरूरत से ज्यादा जांच हुई। इससे हम डर गये थे लेकिन प्रश्नपत्र देखकर अच्छा लगा। भौतिकी छोड़ कर जीवविज्ञान और रसायनशास्त्र के सवाल आसान लगे। - मेधा, परीक्षार्थी.

परीक्षा ठीक रही। जीवविज्ञान के प्रश्न तो देखने में आसान थे, लेकिन उसे सॉल्व करना थोड़ा कठिन था। भौतिकी में प्रश्न भी कठिन थे। - प्रणव, अभ्यर्थी 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NEET 2019 : Quick analysis and expected cut off know What students said after the exam