DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

NEET 2019 : काउंसिलिंग से पहले रजिस्ट्रेशन के दौरान बरतें ये सावधानियां

neet result

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) 2019 के रिजल्ट निकलने के बाद अब काउंसिलिंग शुरू होगी। काउंसिलिंग के पहले अभ्यर्थियों को रजिस्ट्रेशन करना होगा। 15 फीसदी केंद्र कोटे के तहत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 14 जून से शुरू हो रहा है। अच्छे मेडिकल कॉलेज मिले, इसके लिए जरूरी है कि काउंसिलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन अच्छे से करें। एनटीए की मानें तो अच्छे मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिल सके, इसके लिए काउंसिलिंग बेहद अहम प्रक्रिया है। इतना ही नही, काउंसिलिंग प्रक्रिया के लिए रजिस्ट्रेशन समय से करें। समय से रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ तो कॉलेज में दाखिला प्रभावित हो सकता है। 

काउंसिलंग प्रक्रिया के दौरान च्वाइस फिलिंग करना सबसे जरूरी है। अगर च्वाइस फिलिंग अच्छे से नहीं की तो मनपसंद कॉलेज मिलने पर इसका असर पड़ सकता है। कॉलेज फिलिंग अपनी रैंक के अनुसार करें। इसके लिए 2018 की रैंक सूची से मदद ले सकते हैं। 

मेडिकल कॉलेज में 15 फीसदी कोटे के तहत 14 जून से काउंसिलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू 

इन डॉक्यूमेंट्स का रखें ख्याल 
- नीट 2019 एडमिट कार्ड.
- नीट 2019 स्कोर कार्ड या रैंक लेटर .
- 10वीं कक्षा का प्रमाणपत्र और अंक पत्र .
- 12वीं का प्रमाणपत्र और अंक पत्र .
- अभ्यर्थी का वैध फोटो आईडी प्रूफ .
- आठ पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ .
- प्रोविजनल एलॉटमेंट लेटर .
- आरक्षित अभ्यर्थी जाति प्रमाणपत्र रखें .

रजिस्ट्रेशन होने के बाद सीट आवंटन की प्रक्रिया चलेगी। सीट आवंटित होने के बाद अभ्यर्थी को प्रवेश की प्रक्रिया पूरी करने के लिए संबंधित कॉलेज में तुरंत रिपोर्ट करनी होगी। रिपोर्टिंग के समय अपने सारे दस्तावेज साथ रखें।.

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:neet 2019: keep this in mind during nta neet 2019 registration for counselling