NEET 2018: States to give affidavit on translated papers says Prakash Javadekar - NEET प्रश्न पत्रों के अनुवाद पर राज्यों को अब देना होगा शपथपत्र DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

NEET प्रश्न पत्रों के अनुवाद पर राज्यों को अब देना होगा शपथपत्र

Prakash Javdekar on cbse paper leak

देश के सरकारी व निजी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्सेज में दाखिले के लिए होने वाली नीट (National Eligibility cum Entrance Test) परीक्षा में सुधार के लिए सरकार अब कड़े कदम उठाने जा रही है। अब जो राज्य प्रश्नपत्र का अनुवाद कराएंगे उन्हें यह हलफनामा भी देना होगा कि अनुवाद पूरी तरह दुरुस्त होगा। अनुवाद में किसी तरह की गड़बड़ी होती है तो इसके लिए राज्य जिम्मेदार होंगे। यह व्यवस्था अगले साल से लागू होगी। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यह जानकारी राज्यसभा में एक प्रश्र के उत्तर में दी। 

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि तमिलनाडु में पिछले साल ऐसी गड़बड़ी हुई थी। 49 प्रश्नों का तमिल अनुवाद गलत पाया गया था। यह मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है इसलिए वह इस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। प्रश्नपत्रों में यह गड़बड़ी तमिल अनुवाद में हुई थी।

ये भी पढ़ें: NEET 2018: ग्रेस मार्क्स देने के HC के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

उन्होंने कहा कि मौजूदा व्यवस्था के तहत यदि कोई राज्य स्थानीय भाषा में परीक्षा कराना चाहता है तो उसके लिए प्रश्नपत्र को स्थानीय भाषा में अनुवाद कराने की व्यवस्था है। इसके लिए राज्यों को ही अनुवादक उपलब्ध कराने होते हैं।

वहीं परीक्षार्थी को परीक्षा देने के लिए अब अपने जिले से बाहर नहीं जाना होगा। केंद्रीय मंत्री ने ये भी जानकारी दी कि अब पीएचडी के रिसर्च पेपर को कॉपी या चोरी नहीं किया जा सकेगा इसके लिए तकनीक तैयार की जा रही है।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NEET 2018: States to give affidavit on translated papers says Prakash Javadekar