ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरएनसीईआरटी की अंग्रेजी और हिंदी की किताबों में गलतियों की भरमार

एनसीईआरटी की अंग्रेजी और हिंदी की किताबों में गलतियों की भरमार

एनसीईआरटी की ओर से प्रकाशित कक्षा एक और दो की अंग्रेजी की किताब ‘मृदंग’ में गलतियों की भरमार है। किताब के पहले पाठ में ही पेज नंबर नौ पर ओपन द टैप ऑर पोर वाटर जबकि ओपन द टैप एंड पोर वाटर सही वाक्य है।

एनसीईआरटी की अंग्रेजी और हिंदी की किताबों में गलतियों की भरमार
Pankaj Vijayप्रयागराज,संजोग मिश्रWed, 08 Nov 2023 07:36 AM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की ओर से प्रकाशित कक्षा एक और दो की अंग्रेजी की किताब ‘मृदंग’ में गलतियों की भरमार है। स्कूल के शिक्षकों ने शुरू में एक-दो गलतियां तो नजरअंदाज की, लेकिन बाद में कई गलतियां दिखाई पड़ने पर एक-दूसरे को फोन करके सतर्क किया। किताब के पहले पाठ में ही पेज नंबर नौ पर ‘ओपन द टैप ऑर पोर वाटर’ जबकि ‘ओपन द टैप एंड पोर वाटर’ सही वाक्य है।

पहले पाठ में ही पेज नंबर सात पर एक आंख की तस्वीर छपी है और वाक्य में बहुवचन का उपयोग हुआ है। दूसरे पाठ के पृष्ठ संख्या 38 पर वाक्य के बीच में ग्रैंडफादर, आंट और अंकल में पहला अक्षर कैपिटल में लिखा है जो कि गलत है। पाठ तीन के पृष्ठ संख्या 49 पर एपोस्ट्रॉफी का उपयोग नहीं होना चाहिए। पेज नंबर 107 में मोस्ट के पहले द होना चाहिए जो कि नहीं है।

कक्षा दो की मृदंग में भी कई गलतियां हैं। गोइंग प्लेसेस पाठ में पेज नंबर 40 पर उदाहरण में तो पहला अक्षर कैपिटल से है, लेकिन सभी विकल्प में पहले अक्षर स्माल में लिखे हैं। लाइफ अराउंड अस पाठ में पेज 55 पर एपोस्ट्रॉफी का उपयोग नहीं होना चाहिए। इस पाठ में फ्लफी और लैम्ब्स शब्द नहीं है, लेकिन पृष्ठ संख्या 56 पर नए शब्द में दोनों शब्द लिखे हैं। पृष्ठ संख्या 61 व 63 पर साइट वर्ड्स और न्यू वर्ड्स का दोहराव है।

हिन्दी की किताब में भी कमियां
एनसीईआरटी की कक्षा एक की हिन्दी की किताब सारंगी में भी कमियां हैं। 1955 में प्रदर्शित ‘वचन’ फिल्म में रवि कुमार के बालगीत ‘चंदा मामा दूर के’ को इस किताब में एक एनजीओ के नाम से प्रकाशित किया गया है। कक्षा एक के बच्चों के लिहाज से कई कठिन शब्द और संयुक्ताक्षर जैसे अध्यापिका शामिल हैं।

पतंजलि ऋषिकुल के प्रिंसिपल नित्यानंद सिंह ने कहा, 'एनसीईआरटी की कक्षा एक व दो की अंग्रेजी पुस्तक मृदंग के फर्स्ट एडिशन में कुछ त्रुटियां हैं। शिक्षकों को सही शब्द और वाक्य पढ़ाने का सुझाव दिया गया है।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें