ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियर2015 में लीक हुआ था मेडिकल प्रवेश परीक्षा का प्रश्न पत्र, फिर रद्द कर दिया गया था पेपर, जानें- पूरी जानकारी

2015 में लीक हुआ था मेडिकल प्रवेश परीक्षा का प्रश्न पत्र, फिर रद्द कर दिया गया था पेपर, जानें- पूरी जानकारी

मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET UG 2024 में पेपर लीक का पता लगाने के लिए जांच चल रही है। वहीं आपको बता दें, 9 साल पहले भी आयोजित हुई मेडिकल प्रवेश परीक्षा ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट (AIPMT) को पेपर लीक के

2015 में लीक हुआ था मेडिकल प्रवेश परीक्षा का प्रश्न पत्र, फिर रद्द कर दिया गया था पेपर, जानें- पूरी जानकारी
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 23 Jun 2024 12:15 PM
ऐप पर पढ़ें

NEET UG controversy: पिछले कुछ वर्षों में देश में आयोजित होने वाली विभिन्न प्रवेश परीक्षाएं नकल और अनियमितताओं के विवादों से घिरी रही हैं। इस वर्ष नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा आयोजित यूजीसी-नेट परीक्षा को अनियमितता और गड़बड़ी के संकेत मिलने के कारण रद्द कर दिया गया है।  इस बीच मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET UG 2024 में पेपर लीक का पता लगाने के लिए जांच चल रही है। वहीं आज आयोजित होने वाली NEET PG 2024 परीक्षा को भी स्थगित कर दिया गया है। परीक्षा की नई तारीख जल्द जारी की जाएगी।

आपको बता दें, ऐसा पहली बार नहीं है, जब कोई मेडिकल प्रवेश परीक्षा विवाद में आई हो, इससे पहले भी परीक्षा विवाद में आई है और रद्द कर दी गई थी।

क्या पहले कभी लीक हुई थी मेडिकल एंट्रेंस परीक्षा?

NEET एंट्रेंस परीक्षा की शुरुआत से पहले भारत में मेडिकल कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए अलग- अलग परीक्षाएं आयोजित की जाती थी। इनमें से AIPMT का आयोजन CBSE की ओर से किया जाता था, वहीं हर राज्य अलग- अलग मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट आयोजित करते थे।

बता दें, साल 2015 में मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम, जिस पहले ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट (AIPMT) कहा जाता था, पेपर लीक की रिपोर्ट के बाद साल 2015 में रद्द कर दी गई थी। उस समय AIPMT का संचालन सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) द्वारा किया जाता था।

उस समय जब पेपर लीक की जांच की गई, तो पता चला कि प्रश्न पत्र और आंसर की 10 राज्यों में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइज के जरिए सर्कुलेट किए गए हैं। जिसके बाद बाद मेडिकल प्रवेश परीक्षा रद्द कर दी गई थी। परीक्षा देश और विदेश के 50 शहरों में 1,065 केंद्रों पर आयोजित की गई थी। साल 2015 में AIPMT के लिए कुल 6,32,625 उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इनमें से लगभग 4,22,859 उम्मीदवारों ने एडमिट कार्ड डाउनलोड किया था।

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, 15 से 20 लाख रुपये के बदले में उम्मीदवारों को लगभग 90  आंसर की लीक कर दी गई थी। उस समय रोहतक पुलिस ने दो डॉक्टरों और एक एमबीबीएस छात्र समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया था।

NTA के डायरेक्ट जनरल (DG) को पद से हटाया गया

NEET-UG रिजल्ट और UCG-NET परीक्षा रद्द होने को लेकर चल रहे विवाद के बीच सरकार ने NTA के डायरेक्ट जनरल (DG) सुबोध कुमार सिंह को पद से हटा दिया है। अब उनकी जगह पर रिटायर्ड आईएएस प्रदीप सिंह खरोला DG की जिम्मेदारी निभाएंगे।

 

Virtual Counsellor