ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरMBBS : युद्ध के बीच यूक्रेन लौटने की तैयारी में भारतीय मेडिकल छात्र, भारत के इस नियम ने बढ़ाई टेंशन

MBBS : युद्ध के बीच यूक्रेन लौटने की तैयारी में भारतीय मेडिकल छात्र, भारत के इस नियम ने बढ़ाई टेंशन

MBBS in Ukraine : आगे की पढ़ाई के भारतीय छात्र यूक्रेन लौटने की तैयारी कर रहे हैं। मेडिकल के छात्रों की नियमित पढ़ाई के लिए यूक्रेन के विश्वविद्यालय सुरक्षित स्थानों पर ढांचा तैयार करने में जुटे हैं

MBBS : युद्ध के बीच यूक्रेन लौटने की तैयारी में भारतीय मेडिकल छात्र, भारत के इस नियम ने बढ़ाई टेंशन
Pankaj Vijayप्रमुख संवाददाता,प्रयागराजFri, 19 Aug 2022 11:24 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

MBBS in Ukraine : भीषण युद्ध के बीच आगे की पढ़ाई के भारतीय छात्र यूक्रेन लौटने की तैयारी कर रहे हैं। मेडिकल के छात्रों की नियमित पढ़ाई के लिए यूक्रेन के विश्वविद्यालय सुरक्षित स्थानों पर ढांचा तैयार करने में जुटे हैं। ढांचा तैयार होते ही छात्रों को बुलाया जाएगा। देश के नेशनल मेडिकल कमीशन ( NMC MBBS Guidelines ) से मेडिकल छात्रों को छह महीने से अधिक ऑनलाइन पढ़ाई की अनुमति नहीं मिलने से अब वहां लौटना मजबूरी हो गई है।

भारत में ऑनलाइन पढ़ाई से एमबीबीएस डिग्री को मान्यता नहीं
यूक्रेन के ओडेसा में मेडिकल पांचवें साल की पढ़ाई करने वाले छात्रों को यह संदेश भेजा गया है। प्रयागराज के अमित मिश्रा और दीक्षांत श्रीवास्तव का ओडेसा में मेडिकल की पढ़ाई का पांचवां साल है। देश के बाकी छात्रों की तरह अमित और दीक्षांत भी अभी ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं। नेशनल मेडिकल कमीशन की शर्त (छह माह से अधिक ऑनलाइन पढ़ाई नहीं) की जानकारी यूक्रेन के विश्वविद्यालयों को हो चुकी है। ऑनलाइन पढ़ाई के बाद एमबीबीएस की डिग्री मिल जाएगी, लेकिन इसको भारत में मान्यता नहीं मिलेगी।

MBBS Students : भारतीय विद्यार्थियों का पहला बैच बहुत जल्द आएगा- चीन

ओडेसा नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी के छात्र अमित मिश्रा ने बताया विश्वविद्यालय प्रशासन ने सुरक्षित स्थान पर ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने की जानकारी दी है। स्थान का नाम अभी नहीं बताया गया है। खारकीव यूनिवर्सिटी में पहले साल की मेडिकल की पढ़ाई कर रहे महाराजगंज के छात्र राहुल प्रिय नंदन ने बताया कि यूक्रेन के ज्यादातर विश्वविद्यालय जार्जिया, कजाकिस्तान में शिफ्ट हो रहे हैं। छात्रों को वापस बुलाया जा रहा है। महाराजगंज की दिव्या ने बताया कि मे़डिकल फाइनल ईयर के छात्रों को इवानों बुलाया जा रहा है।

MBBS: विदेश से लौटे मेडिकल ग्रेजुएट छात्रों को एफएमजी परीक्षा देने की अनुमति

आगे की पढ़ाई का मौका देगा बेलारूस
रूस के हमले से यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई करने वाले छात्रों को बेलारूस अपने देश के अलग-अलग विश्वविद्यालयों में आगे पढ़ाई का मौका देगा। भारत के हजारों छात्र यूक्रेन के अलग-अलग विश्वविद्यालयों में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं। आगे की पढ़ाई को लेकर बेलारूस के शिक्षा प्रतिनिधियों ने एक वेबीनार में कहा कि भारत के मेडिकल छात्रों को अपने देश में पढ़ाई का मौका देने को तैयार है। वेबीनार में प्रयागराज की संस्कृति सिंह ने भी भाग लिया था। मेडिकल प्रथम वर्ष की छात्रा संस्कृति यूक्रेन में खतरे को देखते हुए अन्य देश में दूसरे साल की पढ़ाई करना चाहती हैं। अब संस्कृति के माता-पिता सेकंड ईयर की पढ़ाई के लिए वैकल्पिक देश पर मंथन कर रहे हैं।

epaper