ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरस्कूलों में शिक्षकेतर कर्मियों को भी ऑनलाइन हाजिरी बनाना अनिवार्य

स्कूलों में शिक्षकेतर कर्मियों को भी ऑनलाइन हाजिरी बनाना अनिवार्य

झारखंड के सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकेतर कर्मचारियों को भी ऑनलाइन हाजिरी बनाना अनिवार्य होगा। इसके लिए सभी जिलों को स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग ने निर्देश दे दिया है। इसके लिए जिलों के माध्यम

स्कूलों में शिक्षकेतर कर्मियों को भी ऑनलाइन हाजिरी बनाना अनिवार्य
Alakha Singhहिन्दुस्तान ब्यूरो,रांचीSat, 11 Mar 2023 09:18 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकेतर कर्मचारियों को भी ऑनलाइन हाजिरी बनाना अनिवार्य होगा। इसके लिए सभी जिलों को स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग ने निर्देश दे दिया है। इसके लिए जिलों के माध्यम से स्कूलों को सूचित किया जा रहा है कि ई विद्या वाहिनी पोर्टल पर शिक्षकेतर कर्मचारियों की जानकारी अपलोड की जाए। स्कूलों में शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मचारियों के साथ-साथ गैर शैक्षणिक पदों पर कार्यरत कर्मियों को मार्च महीने के वेतन व मानदेय का भुगतान ऑनलाइन हाजिरी के आधार पर किया जाएगा।

राज्य के सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को जनवरी 2023 से ही ऑनलाइन हाजिरी बनाने पर वेतन का भुगतान किया जा रहा है। शिक्षकेतर और गैर शैक्षणिक पदों पर कार्यरत कर्मियों के लिए मार्च से इसे अनिवार्य किया गया है। सभी स्कूलों को अपने यहां के ऐसे कर्मियों की जानकारी ई विद्यावाहिनी पोर्टल व एप पर देनी होगी। इसमें पोर्टल व एप पर इन कर्मियों की ई-विद्या वाहिनी आईडी बनानी होगी। इस पोर्टल व एप पर वे ऑनलाइन हाजिरी बना सकेंगे। साथ ही, ऑनलाइन लीव मैनेजमेंट से छुट्टी ले सकेंगे। पोर्टल में संबंधित कर्मी का नाम, जेंडर, जन्म तिथि, सोशल कैटेगरी, मोबाइल नंबर, आधार नंबर, नियुक्ति की प्रकृति, नियुक्ति की तिथि, जिला, प्रखंड, संकुल, स्कूल के यू-डाइस कोड, स्कूल का नाम, नियुक्ति का प्राधिकार, ब्लड ग्रुप, दिव्यांगता (अगर हो तो), गृह जिला, गृह प्रखंड, स्थानीय पता, कंप्यूटर ट्रेनिंग से लेकर अन्य जानकारियां उपलब्ध करानी होंगी।

शिक्षक जनवरी से बना रहे ऑनलाइन हाजिरी
राज्य के सरकारी स्कूलों के वेतनमान वाले शिक्षकों के साथ-साथ नियत मानदेय पर कार्यरत सहायक अध्यापक जनवरी 2023 के प्रभाव से ऑनलाइन हाजिरी बना रहे हैं। नियमित रूप से वे हाजिरी बना रहे हैं। इसी आधार पर जनवरी और फरवरी के वेतन का भुगतान हुआ है। जो शिक्षक ऑनलाइन हाजिरी नहीं बना रहे हैं, उन्हें वाजिब कारण के आधार पर छूट दी जा रही है। इसमें वैसे शिक्षक जिनका स्कूल इंटरनेट कनेक्टिविटी में नहीं है, वे ऑफलाइन हाजिरी बना रहे हैं।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें