DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरलखनऊ विश्वविद्यालय : स्नातक प्रवेश परीक्षा शुरू, आधे अभ्यर्थियों ने छोड़ी

लखनऊ विश्वविद्यालय : स्नातक प्रवेश परीक्षा शुरू, आधे अभ्यर्थियों ने छोड़ी

कार्यालय संवाददाता,लखनऊPankaj Vijay
Wed, 25 Aug 2021 02:05 PM
लखनऊ विश्वविद्यालय : स्नातक प्रवेश परीक्षा शुरू, आधे अभ्यर्थियों ने छोड़ी

लखनऊ विश्वविद्यालय में नए सत्र में प्रवेश के लिए स्नातक प्रवेश परीक्षा मंगलवार से शुरू हो गई। 31 अगस्त तक अलग-अलग पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा होगी। पहले दिन पहली पाली में बीवोक और दूसरी पाली में बीजेएमसी की प्रवेश परीक्षा हुई। मंगलवार को ही प्रारंभिक अर्हता परीक्षा होने के कारण बीजेएमसी प्रवेश परीक्षा 49 फीसद अभ्यर्थियों ने छोड़ दी। वहीं पहली पाली में हुई बीवोक प्रवेश परीक्षा 37 फीसद अभ्यर्थियों ने छोड़ दी।  
   
बीवोक में प्रवेश के लिए 41 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। जिसमें से 26 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए और 15 ने परीक्षा छोड़ दी। इसी क्रम में बीजेएमसी में प्रवेश के लिए 208 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इसमें 107 से परीक्षा दी और 101 अनुपस्थित रहे। स्नातक प्रवेश परीक्षा बहुविकल्पीय प्रश्न पत्र प्रणाली के आधार पर हुई। 100 प्रश्नों के उत्तर अभ्यर्थियों को देने थे। अभ्यर्थियों ने कहा कि पेपर सरल था।
बुधवार को बीएससी मैथ और बीएलएड में प्रवेश के लिए परीक्षा होगी।

बीए प्रथम सेमेस्टर में प्रमोशन परिणाम जारी
एलयू ने मंगलवार को बीए प्रथम सेमेस्टर में प्रमोट किए गए छात्र-छात्राओं का परिणाम जारी कर दिया है। परीक्षा नियंत्रक प्रो. एएम सक्सेना ने बताया कि विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर रिजल्ट अपडेट है। 

31 अगस्त तक भर सकेंगे परीक्षा फार्म
लखनऊ विश्वविद्यालय ने परीक्षा फार्म भरने की तिथि 31 अगस्त तक बढ़ा दी है।  एक हजार रुपए विलम्ब शुल्क के साथ स्नातक सम सेमेस्टर एवं पीजी समेस्टर परीक्षा 2021 के फार्म 31 अगस्त तक भरे जा सकते हैं। 
परीक्षा तिथि में संशोधन के लिए छात्रों का प्रदर्शन

एलयू स्नातक की प्रवेश परीक्षा मंगलवार से शुरू हुई। इन्ही तारीखों में सीबीएसई एवं आईसीएसई बोर्ड बारहवीं की इम्प्रूवमेंट परीक्षा भी है। ऐसे में बोर्ड के कई हजार बच्चे स्नातक प्रवेश परीक्षा से वंचित रह जाएंगे। समाजवादी छात्रसभा और आइसा ने परीक्षा की तिथियों में संशोधन की मांग करते हुए प्रदर्शन किया। प्राक्टर ने आन्दोलनकारी छात्रों से बात और कुलपति से मुलाकात करवायी। छात्रनेता कार्तिक  ने बताया कि कुलपति ने आश्वासन दिया कि जिन छात्रों की परीक्षा छूटेगी उनकी परीक्षा करायी जाएगी। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें