Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरलखनऊ विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह: लवी शुक्ला को बेस्ट वुमेन स्टूडेंट का चांसलर्स सिल्वर मेडल

लखनऊ विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह: लवी शुक्ला को बेस्ट वुमेन स्टूडेंट का चांसलर्स सिल्वर मेडल

वरिष्ठ संवाददाता,लखनऊAlakha Singh
Fri, 26 Nov 2021 11:46 PM
लखनऊ विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह: लवी शुक्ला को बेस्ट वुमेन स्टूडेंट का चांसलर्स सिल्वर मेडल

लखनऊ विश्वविद्यालय में शुक्रवार को 64वें दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया जिसमें 15 मेधावी छात्र-छात्राओं को मेडल और दो पीजी डिप्लोमा छात्रों को डिग्री दी गई। बता दें कि इस बार विश्वविद्यालय में कुल 195 मेडल दिए जा रहे हैं जिनमें से 15 शुक्रवार को समारोह में दिए गए और बाकी 180 मेडल विभागवार बांटे जाएंगे।

समारोह की अध्यक्षता प्रदेश की राज्यपाल और विश्वविद्यालय की कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने की। कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय ने उनका स्वागत किया और औपचारिक रूप से छात्रों को उपाधि दिए जाने की घोषणा भी की। उन्होंने बताया कि 34811 डिग्रियां डाक द्वारा छात्रों को अगले तीन-चार दिनों में भेज दी जाएंगी।

कार्यक्रम में विधि छात्रा स्वाति सिंह को चांसलर्स गोल्ड मेडल, देवधर दुबे को चक्रवर्ती गोल्ड मेडल और एनसीसी कैडेट मितेन्द्र श्रीवास्तव को वाइस चांसलर्स गोल्ड मेडल दिया गया। लवी शुक्ला को वाइस चांसलर्स सिल्वर मेडल और बेस्ट वुमन स्टूडेंट का सिल्वर मेडल दिया गया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के मोबाइल एप और ट्राइबल म्यूजियम समेत आठ नई परियोजनाएं लॉन्च की गईं। साथ ही एलयू द्वारा गोद लिए गए पांच कुपोषित बच्चों को पोषण आहार किट और किताबें भी प्रदान की गईं।

इस मौके पर विश्वविद्यालय के सभी संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष, चीफ प्रॉक्टर, प्रोवोस्ट, डीएसडब्ल्यू, सभी शिक्षक व बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।
ये परियोजनाएं शुरू हुईं

-मोबाइल ऐप
-छात्रावासों में 17 ओपन एयर जिम
-महिलाओं व पुरुषों के लिए सामान्य शौचालय
-एम्बुलेंस सुविधा
-चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी निवास
-शिक्षा संकाय में लिफ्ट
-मानव विज्ञान विभाग में आदिवासी संग्रहालय

-एनएसएस का नया सेवाभवन
छोटे से कार्यक्रम के गवाह 500 कॉलेज: कुलपति
दीक्षांत समारोह बहुत सीमित दायरे में किया गया। पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले न तो भव्य इंतजाम थे, न बड़ा पंडाल। मालवीय सभागार में आयोजित इस समारोह के बारे में अपने उद्बोधन के दौरान कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय ने कहा कि हालांकि यह छोटा कार्यक्रम है लेकिन वर्चुअल माध्यम से इसके गवाह लखनऊ विश्वविद्यालय से संबद्ध 500 कॉलेज हैं।

उन्होंने यह भी बताया कि दीक्षांत समारोह के बाद 34811 डिग्रियां डाक द्वारा छात्र-छात्राओं को अगले तीन-चार दिनों में भेज दी जाएंगी। उन्होंने एनईपी के तहत तैयार किए गए विश्वविद्यालय के नए डीलिट, पीजी, यूजी और पीएचडी ऑर्डिनेंस का जिक्र भी किया। इन ऑर्डिनेंस में छात्रों को फलेक्सिबल प्रवेश और निकास की सुविधा मिलती है। इसी के तहत दीक्षांत समारोह में पीजी डिप्लोमा के दो छात्रों को डिग्री भी दी गई। कुलपति ने मोंटगोमरी, अलबामा, यूएसए में ऑबर्न यूनिवर्सिटी के साथ हुए एमओयू के बारे में भी बताया।

प्रदेश में सुधरा है महिला-पुरुष अनुपात: राज्यपाल
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने एनईपी-2020 लागू करने में लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना की और एनआईआरएफ में स्थान बनाने के लिए भी बधाई दी। उन्होंने उल्लेख किया कि 25 नवम्बर को प्रधानमंत्री ने जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की आधारशिला रखी है जो आने वाले समय में एक लाख लोगों को रोजगार देगा। यहां उन्होंने एनएफएचएस-2020 की रिपोर्ट का उल्लेख किया जिसके अनुसार उत्तर प्रदेश में पिछले पांच वर्षों में महिला-पुरुष अनुपात में सुधार हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक अब प्रदेश में 1000 पुरुषों पर 1020 महिलाएं हैं जबकि 2015 में 1000 पुरुषों पर 991 महिलाएं थीं। उन्होंने छात्रों से जल संरक्षण, वोकल फॉर लोकल, डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने, एकल उपयोग प्लास्टिक का उपयोग बंद करने में मदद करने की अपील की। 

epaper

संबंधित खबरें