DA Image
26 अक्तूबर, 2020|9:11|IST

अगली स्टोरी

Lal Bahadur Shastri Jayanti Speech : लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर ऐसे तैयार करें भाषण और निबंध, जानें फॉर्मेट 

lal bahadur shastri

लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर अगर आप भाषण देना चाहते हैं, तो आपको उनके बारे में कुछ बातों को जान लेनी चाहिए, जिससे कि अगर आप बीच में भाषण भूल भी जाएं, तो आप उनके विचार या जीवन से जुड़ी हुईं बातें बोल सकें। आइए, जानते हैं लाल बहादुर शास्त्री पर निबंध और भाषण- 

अभिभावन से करें भाषण की शुरुआत 
आदरणीय प्रधानाचार्य महोदय, सम्माननीय शिक्षक गण एवं मेरे प्यारे भाइयो और बहनों आज मुझे आपके समक्ष लाल बहादुर शास्त्री जैसे महापुरुष के बारे मे बताते हुए बेहद खुशी हो रही है। लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर 1904 को उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में हुआ था। इनके पिता का नाम श्री मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव और माता का रामदुलारी था। इनके पिता एक शिक्षक थे। शास्त्री जी अपने परिवार में सबसे छोटे थे, इसलिए सब प्यार से उन्हे नन्हे बुलाते थे। शास्त्री जी एक क्रांतिकारी व्यक्ति थे और इनके द्वारा गांधी जी के नारे को ‘मरो नहीं, मारो’ में चतुराई से बदलाव मात्र से देश में क्रांति की भावना जाग उठी और उसने प्रचंड रूप ले लिया और इसके लिए शास्त्री जी को जेल भी जाना पड़ा। आजादी के बाद शास्त्री जी की साफ-सुथरी छवि ने उन्हे नेहरू जी के मृत्यु के बाद देश का दूसरा प्रधानमंत्री बनाया और उनके सफल मार्गदर्शन में देश काफी आगे बढ़ा। अनाजों की कीमतों में कटौती, भारत-पाकिस्तान की लड़ाई में सेना को खुली छूट देना, ताशकंद समझौता जैसे महत्वपूर्ण कदम उठाते में उनकी मृत्यु ताशकंद में रहस्यमयी तरीके से हो गई।लाल बहादुर शास्त्री अपने देश के लिए बलिदान और सच्ची देश भक्ती के लिए सदैव जाने जाएंगे। मरणोपरांत इन्हे भारत रत्न से सम्मानित किया गया। ‘

आज़ादी की रक्षा केवल सैनिकों का काम नही है, पूरे देश को मजबूत होना होगा।‘ 

जय हिन्द
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lal Bahadur Shastri Jayanti 2020 speech and quotes in hindi know bhasan and nibandh format and tips