ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरJSSC : झारखंड पीजीटी भर्ती परीक्षा में NEET जैसी गड़बड़ी, एक ही सेंटर से 500 पास, सबसे ज्यादा टॉपर भी

JSSC : झारखंड पीजीटी भर्ती परीक्षा में NEET जैसी गड़बड़ी, एक ही सेंटर से 500 पास, सबसे ज्यादा टॉपर भी

नीट की तरह झारखंड में पीजीटी भर्ती में एक ही सेंटर से 500 अभ्यर्थी पास हुए हैं। इनमें कई तो प्लस टू स्कूलों में योगदान भी दे चुके हैं, जबकि बाकी को जल्द ही नियुक्ति पत्र दिया जाएगा।

JSSC : झारखंड पीजीटी भर्ती परीक्षा में NEET जैसी गड़बड़ी, एक ही सेंटर से 500 पास, सबसे ज्यादा टॉपर भी
Pankaj Vijayनिर्भय,रांचीTue, 25 Jun 2024 08:28 AM
ऐप पर पढ़ें

नीट की तरह झारखंड में स्नातकोत्तर प्रशिक्षत शिक्षकों की नियुक्ति में एक ही सेंटर से 500 अभ्यर्थी पास हुए हैं। इनमें कई तो प्लस टू स्कूलों में योगदान भी दे चुके हैं, जबकि बाकी को जल्द ही नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। यह सेंटर बोकारो का श्रेया डिजिटल केंद्र है। सबसे ज्यादा रिजल्ट के साथ-साथ सबसे ज्यादा टॉपर भी इसी सेंटर से हैं। भौतिकी में 25 में 10 टॉपर इसी सेंटर से हैं। भूगोल में भी 13 में आठ और कुल 27 में 10 अभ्यर्थी इसी सेंटर के हैं। जीव विज्ञान के भी टॉप 11 में तीन और कुल 47 में 10 सफल अभ्यर्थी यहीं के हैं। अब पीजीटी अभ्यर्थी इन सेंटरों के रिजल्ट पर सवाल उठाकर धांधली का आरोप लगा रहे हैं। अभ्यर्थी झारखंड कर्मचारी चयन आयोग से लेकर मुख्यमंत्री तक इसकी जांच की गुहार लगा चुके हैं।

48 सफल अभ्यर्थी पांच सेंटरों के ही 3120 स्नातकोत्तर प्रशिक्षित शिक्षक प्रतियोगिता परीक्षा के लिए राज्यभर में 24 परीक्षा केंद्र बनाए गये थे। लेकिन श्रेया डिजिटल समेत पांच केंद्रों से ही करीब 1500 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। बोकारो के श्रेया डिजिटल के अलावा रांची के शिवा इंफोटेक, धनबाद के धनबाद डिजिटल, रांची के फ्यूचर ब्राइट और टिस्टा टेक्नोलॉजी के परीक्षा केंद्रों का परिणाम अन्य परीक्षा केंद्रों से काफी बेहतर रहा है। इनमें भी 200 से अधिक अभ्यर्थी सफल हुए हैं। 12 सेंटर तो ऐसे हैं जहां 30 से 100 के अंदर ही अभ्यर्थी सफल हो सके हैं। 

श्रेया डिजिटल की बात करें तो भूगोल विषय में 195 अभ्यर्थी पास हुए हैं, जिनमें इस केंद्र से 45 अभ्यर्थी सफल हुए। वहीं, भौतिकी के 262 में 72, वाणिज्य के 245 में 49, गणित के 279 में 52 के अलावा जीव विज्ञान में 36, रसायनशास्त्रत्त् में 22, अंग्रेजी में 28, हिन्दी में 20, अर्थशास्त्रत्त् में 18, इतिहास में 13 और संस्कृत में सात अभ्यर्थी सफल हुए हैं। बाकी अभ्यर्थियों का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन कर लिया गया है और रिजल्ट लंबित रखा गया है।

अभ्यर्थियों का आरोप
बोकारो के श्रेया डिजिलट, धनबाद के धनबाद डिजिटल, रांची के शिवा इंफोटेक, फ्यूचर ब्राइट और टिस्टा टेक्नोलॉजी सेंटरों में बड़ी धांधली

Virtual Counsellor