DA Image
29 सितम्बर, 2020|2:35|IST

अगली स्टोरी

JoSAA 2020 : इस साल IIT संस्थानों में एडमिशन के होंगे सिर्फ 6 राउंड, छात्रों को वर्चुअली करना होगा इंस्टीट्यूट में रिपोर्ट

josaa

जेईई एडवांस्ड परीक्षा 2020 के परिणाम के इंतजार के बीच ज्वॉइंट सीट अलोकेशन अथॉरिटी (JoSAA) ने इस वर्ष के लिए एडमिशन प्रक्रिया में कुछ बदलावों की घोषणा की है। ज्वॉइंट सीट अलोकेशन अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी बयान के मुताबिक इस वर्ष सीट अलॉटमेंट के केवल छह राउंड होंगे जबकि पिछले तीन वर्षों से सीट अलॉटमेंट के सात-सात राउंड हो रहे हैं। 

जेईई एडवांस्ड, आईआईटी दिल्ली के चेयरमैन प्रोफेसर सिद्धार्थ पांडे ने कहा, 'दिवाली से पहले एडमिशन प्रक्रिया खत्म करने और ठीक उसके तुरंत बाद नया एकेडमिक सत्र शुरू करने के लिए JoSAA ने इस वर्ष एडमिशन छह राउंड तक सीमित करने का सुझाव दिया था।'

लिखित परीक्षा का परिणाम आने के बाद JoSAA देश के 23 आईआईटी संस्थानों, 31 एनआईटी, आईआईईएसटी शिबपुर, 26 आईआईआईटी और अन्य सरकारी वित्त पोषित संस्थानों में दाखिले व काउंसलिंग की प्रक्रिया का संचालन करती है। 

JoSAA 2020 Counselling Dates : एनआईटी में दाखिले के लिए रजिस्ट्रेशन 6 से

सिद्धार्थ पांडे ने कहा, 'इस वर्ष एक बड़ा बदलाव यह भी है कि स्टूडेंट्स को आवंटित संस्थान में अपना एडमिशन कंफर्म करने के लिए फिजिकली रिपोर्ट नहीं करना होगा। कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर JoSAA ने ही यह सुझाव दिया था। इस वर्ष स्टूडेंट्स ऑनलाइन मोड से अपने डॉक्यूमेंट्स सब्मिट कर अपना एडमिशन कन्फर्म कर सकते हैं।'

2015 तक JoSAA सीट अलॉटमेंट के तीन राउंड करवाता था जिसे खाली सीटें भरने के मकसद से 2016 में बढ़ाकर छह कर दिया गया था। हालांकि 2017, 2018 और 2019 में एडमिशन के लिए सात-सात राउंड हुए लेकिन कॉमन एडमिशन राउंड के बाद किसी न किसी आईआईटी में एक या उससे अधिक सीट खाली रह गई। 2019 में 23 आईआईटी संस्थानों में छह राउंड की काउंसलिंग के बाद भी करीब 300 सीटें खाली गई थीं जिसे सातवें राउंट में अलॉट किया गया था।   

JoSAA के पूर्व सदस्य और सीनियर प्रोफेसर ने कहा, 'तीन राउंड के बाद सीट अलोकेशन का कोई महत्व नहीं रह जाता क्योंकि तब तक टॉप संस्थानों के टॉप कोर्सेज की सीटें भर जाती हैं। स्टूडेंट्स अपनी पसंद के कॉलेज और कोर्स को लेकर काफी महत्वकांक्षी होते हैं, और जब उन्हें पता चलता है कि वह अपने मन मुताबिक कॉलेज व सीट हासिल नहीं कर पाए तो वह अपने घर के नजदीक स्थिति किसी प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन ले लेते हैं।'

उन्होंने कहा कि यह ट्रेंड आईआईटी में पिछले पांच सालों से चल रहा है। संस्थानों में सीटें खाली रह जाने के पीछे यह एक बड़ा कारण है। 

जेईई एडवांस्ड रिजल्ट की घोषणा 5 अक्टूबर को  होगी। इसके एक दिन बाद यानी 6 अक्टूबर को JoSAA रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू करेगी। पहली सीट आवंटन लिस्ट 17 अक्टूबर को जारी होगी। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:JoSAA counselling 2020 : Only six admission rounds to IIT this year jee advanced jee main students to report to Institute virtually