ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरझारखंड में होगी 50 हजार शिक्षकों की भर्ती, TET पास को मिलेगी चयन में प्राथमिकता

झारखंड में होगी 50 हजार शिक्षकों की भर्ती, TET पास को मिलेगी चयन में प्राथमिकता

झारखंड में 50 हजार शिक्षकों की जल्द बहाली ली जाएगी। इसमें टेट में पास लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी। यह बात शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने मध्य विद्यालय भटमुरना के निरीक्षण के दौरान कही।

झारखंड में होगी 50 हजार शिक्षकों की भर्ती, TET पास को मिलेगी चयन में प्राथमिकता
Pankaj Vijayप्रतिनिधि,कतरासFri, 07 Oct 2022 06:48 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

झारखंड में 50 हजार शिक्षकों की जल्द बहाली ली जाएगी। इसमें टेट में पास लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी। यह बात शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने भटमुरना फोरलेन सड़क मार्ग स्थित मध्य विद्यालय भटमुरना के निरीक्षण के दौरान कही। 1932 के खतियान के आधार पर यह बहाली होगी या नहीं, इस पर मंत्री ने कहा कि फिलहाल टेट पास हुए लोगों को पहले लिया जाएगा। इसके बाद आगे और लोगों की बहाली की जाएगी। 

मंत्री ने निरीक्षण के दौरान शिक्षिका से रजिस्ट्रर मंगाकर देखा और जांच की कि यहां बच्चों की उपस्थित कितनी है। उन्होंने विद्यालय में कमरे का निर्माण कराने, चहारदीवारी व गेट लगाने का आश्वासन दिया। पानी की समस्या को लेकर बीसीसीएल के जीएम जीसी साहा से फोन पर बात कर निदान कराने का निर्देश दिया। बता दें कि शिक्षा मंत्री के विद्यालय पहुंचते ही सहायक शिक्षिका अभिलाषा झा और रेखा कुमारी ने विद्यालय में कमरे की कमी व पानी की समस्या से अवगत कराया गया। इस विद्यालय में 1 से 8 तक की पढ़ाई होती है, लेकिन मात्र पांच कमरे ही हैं। एक ही कमरे में दो क्लास के बच्चों को पढ़ाने की जानकारी मंत्री को हुई थी। इसको लेकर वे स्वयं यहां पहुंचे और निरीक्षण कर समस्याओं से रूबरू हुए। 

CTET : सीटीईटी आवेदन प्रक्रिया शुरू होने से पहले CBSE ने जारी किया अहम नोटिस, लेटेस्ट अपडेट

मौके पर मौजूद डीएसई भूतनाथ रजवार व बीईओ अशोक कुमार पाल को शिक्षा मंत्री ने समस्याओं का समाधान जल्द करने का निर्देश दिया। मंत्री के साथ झामुमो के राजेन्द्र प्रसाद राजा, शिक्षक चंदन मोदक एवं अन्य लोग उपस्थित थे। 

ज्योतिषाचार्य वीरेन्द्र मोहन झा से लिया आशीर्वाद 
जगरनाथ महतो ने गुरुवार को कतरास स्थित काको मठ पहुंच कर ज्योतिषाचार्य वीरेंद्र मोहन झा से आशीर्वाद लिया। मंत्री गंभीर बीमारी से स्वस्थ होने पर अपनी मन्नत पूरी होने के बाद यहां मां भगवती की पूजा अर्चना करने पहुंचे थे। बता दें कि गंभीर बीमारी के कारण वे 110 दिनों तक चेन्नई अस्पताल में इलाजरत थे। उस दौरान उनकी पत्नी ने काको मठ पहुंच कर मन्नत मांगी थी। करीब दो घंटे तक शिक्षा मंत्री ने पत्नी के साथ मां भगवती की पूजा की। 

epaper