ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरJharkhand Police Bharti : JAP-4 में प्रशिक्षण परीक्षा पास कराने के एवज में 7 लाख वसूली मामले में केस

Jharkhand Police Bharti : JAP-4 में प्रशिक्षण परीक्षा पास कराने के एवज में 7 लाख वसूली मामले में केस

झारखंड सशस्त्र पुलिस (JAP) में हवलदार से जमादार में प्रोन्नत के नाम पर 140 प्रशिक्षुओ से वसूली का मामला सामने आया है प्रशिक्षण परीक्षा पास कराने केा लेकर वसूली मामले में केस दर्ज कर लिया गया है। देवघर

Jharkhand Police Bharti : JAP-4 में प्रशिक्षण परीक्षा पास कराने के एवज में 7 लाख वसूली मामले में केस
Alakha Singhप्रतिनिधि,बोकारोSat, 10 Feb 2024 09:02 AM
ऐप पर पढ़ें

Jharkhand Police JAP Bharti : हवलदार से जमादार में प्रोन्नति के लिए जैप 4 में प्रशिक्षण हासिल कर रहे 140 प्रशिक्षुओं से प्रशिक्षण अवधि कम कराने व परीक्षा पास कराने के एवज में सात लाख वसूली के चर्चित मामले में सेक्टर 12 पुलिस ने शुक्रवार को प्राथमिकी दर्ज की है। प्राथमिकी जैप डीआईजी रांची के निर्देश पर प्रशिक्षण के दौरान जैप 4 के प्रशिक्षण प्रभोष्ट मो. शहाबुद्दीन की शिकायत पर दर्ज की गई है। मामले में जैप 5 देवघर के प्रशिक्षणरत हवलदार पिंकू कुमार, राम प्रवेश शर्मा, जैप 6 जमशेदपुर के संजय शर्मा और जैप 4 बोकारो के रामायण सिंह को आरोपी बनाया गया है।

मालूम हो कि 19 जून 2023 से 24 दिसंबर 2023 तक जैप 5 देवघर के 65, जैप 3 गोविंदपुर धनबाद के 50, जैप 7 हजारीबाग के 22, जैप 9 साहिबगंज के 3 हवलदार जैप 4 बोकारो में प्रशिक्षणरत थे।  दर्ज प्राथमिकी के अनुसार इस दौरान वाहिनी के डीएसपी विनोद कुमार महतो को पता चला कि प्रशिक्षण की अवधि कम करने व परीक्षा पास कराने के नाम पर प्रशिक्षुओं से प्रति प्रशिक्षु पांच हजार रुपए की वसूली की जा रही है। तत्काल इसकी सूचना वाहिनी के समादेष्टा को दी गई। सूचना की गंभीरता को देखते हुए समादेष्टा ने डीएसपी विनोद कुमार महतो के नेतृत्व में  एसआईटी का गठन किया। जिसने जैप देवघर के आरोपी हवलदार से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि जैप बोकारो के आरोपी हवलदार रामायण सिंह (प्रशिक्षण निदेशालय रांची में प्रतिनियुक्ति) के निर्देश पर वसूली की गई है। उसने बताया कि 140 प्रशिक्षुओ से प्रति प्रशिक्षु पांच हजार के हिसाब से कुल सात लाख रुपए वसूले गए हैं। उसके बैरेक से डेढ़ लाख कैश व  140 प्रशिक्षु से वसूली की सूची से संबंधित रजिस्टर बरामद किया गया था। आरोपी पिंकू की निशानदेही पर अन्य आरोपियों से बची हुई राशि बरामद की गई। जैप बोकारो की ओर से पूरे घटनाक्रम की समग्र रिपोर्ट  जैप डीआईजी को सौंप दी गई है। जिस पर समीक्षा के बाद उनके निर्देश से प्राथमिकी दर्ज कर मामले में अनुसंधान शुरू की गई है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें