DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Jharkhand B.Ed 2019 : झारखंड में बीएड में दाखिले पर रोक, नए सिरे से जारी होगी चयन सूची

ranchi university

झारखंड के बीएड कॉलेजों में अकादमिक सत्र 2019-20 के लिए दाखिले पर रोक लगा दी गई है। ऐसा रांची विश्वविद्यालय की ओर से सोमवार को जारी की गई चयन सूची में गड़बड़ी की शिकायत मिलने के बाद किया गया। इस संबंध में रांची विश्वविद्यालय प्रशासन ने मंगलवार को राज्य के सभी बीएड कॉलेजों को पत्र जारी किया कि जिस चयन सूची का प्रकाशन किया गया है, उसके आधार पर कोई नामांकन नहीं लें। अब नए सिरे से  सूची जारी की जाएगी, जो मेरिट के आधार पर होगी। आरयू ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट से भी सूची हटा ली है।

इस बार राज्य में पहली बार प्रवेश परीक्षा के आधार पर बीएड में नामांकन होना है। झारखंड में संयुक्त रूप से इसके लिए प्रवेश परीक्षा ली गई थी और राज्यभर के बीएड कॉलेजों में नामांकन के लिए काउंसिलिंग का जिम्मा रांची विश्वविद्यालय को मिला था। 

UPTET 2018 : यूपीटीईटी सर्टिफिकेट पर दिख रही इस तरह की गड़बड़ियां

च्वाइस के आधार पर जारी कर दी चयन सूची
रांची विवि की ओर से जो चयन सूची जारी की गई, इसमें काफी गड़बड़ियां पाई गईं। जिन विद्यार्थियों का रैंक 8000 से 10000 था, उनका नाम सूची में था और जिनका 251, 500, 1943, 2400 रैंक था, उनका सूची में कहीं नाम ही नहीं था। दरअसल, आरयू की ओर से जो सूची जारी की गई, वह मेरिट के आधार पर न होकर च्वाइस के आधार पर थी। काउंसिलिंग में विद्यार्थियों को तीन कॉलेजों का विकल्प देना था, जबकि आरयू ने पहले विकल्प के आधार पर ही चयन सूची जारी कर दी। जिसके कारण बड़ी संख्या में ऊंची रैंक वाले विद्यार्थी नामांकन से वंचित रह गए। 

बिहार के दो B.Ed कॉलेजों की मान्यता रद्द, 16 को नोटिस

विद्यार्थियों ने कुलपति का किया घेराव
इस मुद्दे पर विभिन्न जिलों से आए विद्यार्थियों ने मंगलवार को कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय का घेराव किया। विद्यार्थियों की नाराजगी इस बात को लेकर थी कि आखिर किस आधार पर ऊंची रैंक वालों को नामांकन से वंचित किया गया। कई छात्र संगठनों ने भी इस मुद्दे को लेकर हंगामा खड़ा किया, जिनमें एबीवीपी, आजसू और टेक्निकल छात्र संघ जैसे संगठन प्रमुख थे। 1943 रैंक प्राप्त छात्रा रत्नाप्रिया ने बताया कि उसने जमशेदपुर के कॉलेज में नामांकन में प्राथमिकता दी थी, लेकिन 4000 रैंक वाले का नामांकन हो गया, जबकि उन्हें नामांकन नहीं मिला। इस तरह बड़ी संख्या में अन्य विद्यार्थियों ने भी कुलपति को गड़बड़ी की शिकायत की।

नई सूची जारी होगी
कुलपति ने मामले पर संज्ञान लेते हुए तत्काल नामांकन पर रोक लगाने से संबंधी पत्र कॉलेजों व विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जारी किया। हालांकि, पत्र में सॉफ्टवेयर में तकनीकी त्रुटि का हवाला देते हुए चयन सूची रद्द करने की बात कही गई है। कुलपति ने विद्यार्थियों के साथ वार्ता में आश्वस्त किया कि चयन सूची नए सिरे जारी की जाएगी, जो मेरिट के आधार पर होगी। इसके बाद विद्यार्थियों ने प्रदर्शन खत्म किया। कुलपति से वार्ता में एबीवीपी के श्यामानंद पांडेय, आजसू के ओम वर्मा, टेक्निकल छात्र संघ के बादल सिंह व विभिन्न जिलों से आए छात्र-छात्राएं शामिल थे।
 
मुख्य बिंदु
- मेरिट लिस्ट में गड़बड़ी की शिकायत के बाद की गई कार्रवाई, नई चयन सूची जल्द जारी होगी
- विद्यार्थियों ने किया विरोध प्रदर्शन, आरयू ने वेबसाइट से हटाई सूची
- बड़ी संख्या में ऊंची रैंक वाले विद्यार्थी नामांकन से वंचित रह गए
- 131 बीएड कॉलेज चलते हैं पूरे झारखंड में
- 13 हजार सीटों पर इन कॉलजों में होना है नामांकन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jharkhand BEd admission 2019: stay on admission in B Ed in Jharkhand ranchi university will release new merit list