DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेईई मेंस एग्जाम टिप्स : खुद रूटीन बनाकर नियमित अभ्यास करें छात्र

jee advance 2019 answer key

इंजीनियरिंग कॉलेजों में नामांकन के लिए जेईई मेंस की पहली परीक्षा छह से 11 जनवरी के बीच होगी। इसकी तैयारी के लिए अब महज पांच महीने रह गये हैं। किस तरह से तैयारी करें, क्या पढ़ें, किन टॉपिक पर विशेष जोर हो, इसके लिए आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान ने फोन से विषय विशेषज्ञों से बातें की। विशेषज्ञों के टिप्स इस प्रकार हैं...

भौतिकी में रखें समय प्रबंधन का ख्याल

भौतिकी विभाग, पटना साइंस कॉलेज के प्रो. शंकर कुमार ने बताया कि जेईई मेंस में हर विषय से तार्किक प्रश्न पूछे जायेंगे। इसके लिए नियमित अभ्यास बहुत जरूरी है। समय प्रबंधन रहेगा, तभी सारे प्रश्नों का जवाब दे पायेंगे। उन्होंने बताया कि छात्रों को पूरी तरह एनसीईआरटी किताब पर फोकस करना चाहिए। लेकिन, किसी टॉपिक को समझने के लिए सहायक पुस्तक का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

मैकेनिक्स: 30 फीसदी
हीट और थर्मोडायनामिक्स:सात  फीसदी इलेक्ट्रोस्टेटिक्स व इलेक्ट्रिसिटी:17 फीसदी 
मैग्नेटिक्स और इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन (एसी सहित):  13 फीसदी तरंग और रेखीय प्रकाशिकी              :10 फीसदी 
मॉर्डन फिजिक्स (परमाणु व नाभिक):   10 फीसदी, 
सेमीकंडक्टर एवं प्र्रिंसपल ऑफ कम्यूनिकेशन, इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेब सहित:13 फीसदी

कठिन प्रश्नों को नोटबुक में लिखें
रसायन में कठिन प्रश्नों की तैयारी नोट बुक में लिखकर करें। आरएन कॉलेज, हाजीपुर के रसायन विभाग के प्रो. डा. विजय कुमार ने बताया कि हर विषय में कुछ प्रश्न तार्किंक होते हैं। ऐसे में छात्रों को उन टॉपिक पर अधिक फोकस करना चाहिए जो उन्हें कठिन लगता है। ऐसे प्रश्न की तैयारी छात्रों को नोट बुक में लिखकर करनी चाहिए। 

फिजिकल केमिस्ट्री-  परमाणु   संरचना, रसायनिक बंधन, मोल  कंसेप्ट, ऑक्सीकरण, अवकरण, गैसीय अवस्था, घोल, वैद्युत रसायन, आयनिक साम्यावस्था, रसायनिक गतिकी           : 30 फीसदी प्रश्न 
अकार्बनिक रसायन - पी ब्लॉक, वे- ब्लॉक और जटिल यौगिक से प्रश्न पूछे जायेंगे। कार्बनिक रसायन-  समावयवता, रेजोनेस, हाइपरक्यूटिव, रिएक्शन, प्रतिक्रिया की क्रिया-विधि, नामित प्रतिक्रिया, पॉलिमर, जैविक अणु से प्रश्न पूछे जायेंगे 
 

गणित में रिविजन पर दें विशेष ध्यान

पटना। पटना साइंस कॉलेज के गणित विभाग के प्रो. केसी सिन्हा ने बताया कि गणित की तैयारी में घंटे का ख्याल नहीं रखें, गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई करें। हर प्रश्न को अलग-अलग तरीके से बनाकर अभ्यास करें। जेईई मेंस में कुछ ऐसे प्रश्न होते हैं जो घुमावदार होते हैं। ऐसे में जितना अभ्यास करेंगे, उसका फायदा होगा। नवंबर तक सिलेबस को समाप्त कर लें।


अल्जेब्रा -  सीक्वेंस एंड सीरिज, कॉम्पलेक्स नंबर, बायोनोमियन थ्योरम, काम्बिनेशन, क्वार्डेटिक इक्वेशन, डिटर्मिनोट एवं मैट्रिक्स से प्रश्न रहेगा 
कैलकुलम - लिमिट डिफरेंशिएबिलिटी, इंटीग्रल, एरिया बाउंडेड, डिफरेंशियल इक्वेशंस से प्रश्न पूछे जायेंगे 
ज्योमेट्री  -  स्ट्रेट लाइंस, सर्किंल, पाराबोला, इलिप्स 
वेक्टर और थ्री डी - ट्रीगनोमेट्री से  तीन, सेट थ्योरी से एक, प्रोबैबिलिटी से एक, मैथेमेटिकल रीर्जंनग से एक प्रश्न पूछे जाएंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:JEE Mains Exam Tips: Make regular routine and practice students know JEE exam main tips from expert