ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरन मोबाइल और न सोशल मीडिया पर, केमिस्ट्री फिजिक्स मैथ्स में 100/100 लाने वाले JEE Main टॉपर आरव की कहानी

न मोबाइल और न सोशल मीडिया पर, केमिस्ट्री फिजिक्स मैथ्स में 100/100 लाने वाले JEE Main टॉपर आरव की कहानी

जेईई मेन 2024 में 100 परसेंटाइल लाने वाले 23 छात्रों में ग्रुरुग्राम के आरव भी शामिल हैं। जेईई मेन परीक्षा में आरव भट्ट ने भौतिक में 100, रसायन विज्ञान में 100 और गणित में भी 100 एनटीए स्कोर किया है।

न मोबाइल और न सोशल मीडिया पर, केमिस्ट्री फिजिक्स मैथ्स में 100/100 लाने वाले JEE Main टॉपर आरव की कहानी
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नयी दिल्लीWed, 14 Feb 2024 12:36 PM
ऐप पर पढ़ें

जेईई मेन 2024 में 100 परसेंटाइल लाने वाले 23 छात्रों में ग्रुरुग्राम के आरव भट्ट भी शामिल हैं। जेईई मेन परीक्षा में आरव भट्ट ने भौतिक में 100, रसायन विज्ञान में 100 और गणित में भी 100 एनटीए स्कोर किया है। सेक्टर-69 के ट्यूलिफ सोसाइटी निवासी आरव भट्ट सेक्टर-43 के एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के छात्र हैं। उन्होंने जेईई मेन की परीक्षा में 100 प्रतिशत स्कोर हासिल करते हुए अपने अभिभावकों और विद्यालय का नाम रोशन किया है। स्कूल की प्रधानाचार्या डा अंशु अरोड़ा ने छात्र आरव को बधाई दी है। आरव भट्ट ने कहा कि अपने अभिभावकों एवं शिक्षकों की प्रेरणा और मार्गदर्शन से यह सफलता अर्जित की है। पूरा विश्वास है कि जेईई एडवांस्ड में भी सफलता हासिल करूंगा।

सफलता को लेकर आरव ने कहा, 'मैं न मोबाइल रखता हूं, न सोशल मीडिया अकाउंट है। इसमें समय बर्बाद होता है। रोज छह घंटे स्कूल में में रहने के बाद रात एक बजे तक पढ़ता हूं। फिर सुबह 5 बजे उठकर तैयारी करता हूं। नींद पर कंट्रोल जरूरी है। साइंटिस्ट बनना है।'

जेईई मेन में किसान का बेटा बना बिहार का टॉपर, 10वीं तक गांव के स्कूल से की थी पढ़ाई

गुरुग्राम के शिवांश के भी 100 परसेंटाइल 
गुरुग्राम के ही रहने वाले शिवांश नायर ने भी जेईई मेन सत्र-1 जनवरी परीक्षा में पूरे 100 परसेंटाइल हासिल किए हैं। देश के 23 टॉपरों में से एक शिवांश आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस में बीटेक करना चाहते हैं। उन्होंने कक्षा 9वीं के दौरान ही विद्यामंदिर क्लासेज में दाखिला लेकर इंजीनियरिंग एंट्रेंस की तैयारी शुरू कर दी थी। अपनी कामयाबी को लेकर शिवांश ने कहा, 'हालांकि तैयारी को बेहतर करने के लिए कोचिंग काफी अहम रहती है, लेकिन मुझे लगता है कि शिक्षकों की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। मेरा जेईई मेन परीक्षा में 100 परसेंटाइल स्कोर हासिल करना उनकी कोशिशों और उनके मुझ पर विश्वास के कारण ही संभव हुआ है।' शिवांश अपने स्कोर को और बेहतर बनाने के लिए जेईई मेन सत्र 2 (अप्रैल) में भी शामिल होंगे। उन्होंने कहा, 'अभी, मेरे 100 परसेंटाइल हैं लेकिन मेरे 295 अंक हैं। इसलिए अगर मुझे अगले सत्र में 300 में से 300 अंक मिलते हैं, तो यह अच्छा रहेगा।' उन्होंने खाली समय में शतरंज खेलना शुरू किया है। किताब पढ़ने के शौकीन हैं।

Virtual Counsellor