ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरजेईई एडवांस्ड के प्रश्न पत्र jeeadv.ac.in पर जारी, कई छात्र बोले- कटऑफ बढ़ेगी

जेईई एडवांस्ड के प्रश्न पत्र jeeadv.ac.in पर जारी, कई छात्र बोले- कटऑफ बढ़ेगी

जेईई एडवांस्ड परीक्षा के पेपर-1 और पेपर-2 दोनों के प्रश्न पत्र जारी कर दिए गए हैं। आधिकारिक वेबसाइट jeeadv.ac.in पर जाकर इन्हें डाउनलोड किया जा सकता है। जेईई एडवांस्ड की आंसर-की 31 मई को जारी होगी।

जेईई एडवांस्ड के प्रश्न पत्र jeeadv.ac.in पर जारी, कई छात्र बोले- कटऑफ बढ़ेगी
jee main result 2024
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 27 May 2024 03:33 PM
ऐप पर पढ़ें

जेईई एडवांस्ड परीक्षा के पेपर-1 और पेपर-2 दोनों के प्रश्न पत्र जारी कर दिए गए हैं। आधिकारिक वेबसाइट jeeadv.ac.in पर जाकर इन्हें डाउनलोड किया जा सकता है। जेईई एडवांस्ड की आंसर-की 31 मई को जारी होगी जिस पर आपत्ति 2 से 3 जून तक दर्ज करा सकेंगे। जेईई एडवांस्ड रिजल्ट 9 जून को जारी होगा। जेईई एडवांस्ड में प्रदर्शन के आधार पर ही 23 आईआईटी संस्थानों में दाखिला होगा।

रविवार को जेईई एडवांस 2024 की परीक्षा देकर निकले छात्रों ने क्या कहा 
धनबाद में दो परीक्षा केंद्रों पर हुई इस परीक्षा में कुल 690 परीक्षार्थी शामिल हुए। परीक्षा देकर निकले कई छात्रों की मानें तो सवाल आसान थे, इससे उन्हें लग रहा है कि कट ऑफ बढ़ेगा। बरवाअड्डा स्थित आई-ऑयन डिजिटल में 690 और पर्थ जोन में 220 छात्रों ने परीक्षा दी। इस परीक्षा का आयोजन दो पालियों में हुआ। पहली पाली की परीक्षा सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक हुई। वहीं दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2.30 से शुरू हुई, जो शाम 5.30 बजे तक हुई। दोनों परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके संपन्न हो गया। फोकस इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर अजयवीर सिंह ने बताया कि इस वर्ष जेईई एडवांस प्रश्नपत्र मॉडरेट था, जहां मैथ और केमिस्ट्री से बेहद आसान प्रश्न पूछे गए थे। इस वर्ष मैथ के प्रश्न पिछले सात वर्षों में काफी आसान पूछे गए थे। फिजिक्स का पहला पेपर भी आसान था, लेकिन फिजिक्स का दूसरा पेपर के प्रश्न उलझाने वाले थे। हालांकि यह प्रश्न कठिन नहीं थे लेकिन यह उलझाने वाले थे। इन्हें सॉल्व करने में परीक्षार्थियों को समय लगा। कई परीक्षार्थियों ने बताया कि वह फिजिक्स के सभी प्रश्नों को सॉल्व नहीं कर पाए।

फिट्जी के विशेषज्ञों ने बताया कि पेपर एक में ऑर्गेनिक केमिस्ट्री को अधिक वेटेज दिए जाने के कारण केमिस्ट्री संतुलित नहीं थी। इनऑर्गेनिक रसायन विज्ञान में कुछ प्रश्न सीधे एनसीईआरटी से थे। भौतिक रसायन विज्ञान के प्रश्नों में रासायनिक गतिकी, रासायनिक संतुलन, परमाणु संरचना और थर्मोडायनामिक्स के अध्याय शामिल थे। कार्बनिक रसायन विज्ञान में, ज्यादातर एमाइन, पॉलिमर, बायोमोलेक्युलस, ऑक्सीजन युक्त यौगिकों से प्रश्न पूछे गए, कुछ नामित प्रतिक्रियाओं से भी प्रश्न पूछा गया। फिजिक्स में किनेमेटिक्स, रोटेशनल मोशन, गैसों का काइनेटिक सिद्धांत, आधुनिक भौतिकी, कैपेसिटर, करंट इलेक्ट्रिसिटी, ऑप्टिक्स, इलेक्ट्रोस्टैटिक्स, इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन जैसे अध्यायों को अधिक वेटेज दिया गया था। गणित में आसान से मध्यम स्तर के प्रश्न थे। फंक्शंस, सीमाएं, डेरिवेटिव्स का अनुप्रयोग, निश्चित इंटीग्रल, वक्र के तहत क्षेत्र, व्युत्क्रम त्रिकोणमितीय फंक्शन आदि चैप्टर से प्रश्न पूछे गए थे।

जांच के बाद मिला प्रवेश
परीक्षार्थियों ने बताया कि सेंटर में जांच के बाद ही प्रवेश मिला। पहली पाली में परीक्षा दिन के 9 से 12 बजे तक और दूसरी पाली में 2.30 से 5.30 बजे तक हुई। सेंटर के गेट परीक्षा से डेढ़ घंटे पहले खुल गए थे। रजिस्ट्रेशन के दौरान बायोमैट्रिक उपस्थिति करा ली गई थी। परीक्षा से पहले सेंटर में इसकी जांच की गई। 

चली गई बिजली, एक्स्ट्रा टाइम दिया 
यूपी के कानपुर में श्याम नगर के एक सेंटर से सुबह की पाली की परीक्षा देकर निकले छात्रों ने बताया कि करीब 20 मिनट से 30 मिनट तक बिजली गुल हो गई। पंखे आदि नहीं चल रहे थे। कुछ टिन शेड के नीचे बैठे थे।
सेंटर के बाहर किया हंगामा - रवि शुक्ला ने आरोप लगाया कि उनका बेटा कार्तिकेय को टिन के नीचे बैठाकर परीक्षा दिलाई जा रही थी। बिजली जाने पर उसकी तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश हो गया। सेंटर के लोगों ने जूस पिलाया और उसका स्थान बदला।
 

Virtual Counsellor