Friday, January 21, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरJEE Advanced 2021 Paper Analysis : जानिए कैसा रहा जेईई एडवांस्ड दूसरे सत्र का पेपर, छात्रों की प्रतिक्रिया

JEE Advanced 2021 Paper Analysis : जानिए कैसा रहा जेईई एडवांस्ड दूसरे सत्र का पेपर, छात्रों की प्रतिक्रिया

रमेश बटलिश,नई दिल्लीAlakha Singh
Sun, 03 Oct 2021 11:07 PM
JEE Advanced 2021 Paper Analysis : जानिए कैसा रहा जेईई एडवांस्ड दूसरे सत्र का पेपर, छात्रों की प्रतिक्रिया

इस खबर को सुनें

JEE Advanced 2021 Paper Analysis : जेईई एडवांस्ड 2021 दूसरे सत्र की परीक्षा रविवार को दोपहर 2.30 बजे से शाम तक आयोजित की गई। इसी के साथ ही जेईई एडवांस्ड 2021 की परीक्षा समाप्त हो गई। जेईई एडवांस्ड की कैंडिडेट्स रिस्पॉन्स शीट 5 अक्टूबर को जारी की जाएगी और प्रोविजन आंसर की 10 अक्टूबर को जारी किए जाएंगे।

जेईई एडवांस्ड 2021 का रिजल्ट 15 अक्टूबर को जारी किया जाएगा। दूसरे सत्र के पेपर का विश्लेषण करें तो पाएंगे कि पेपर का स्तर मध्यम से कठिन रहा। पहली शिफ्ट में हुए पेपर-1 की तुलना में पेपर-2 काफी लेंदी और कठिन रहा।

परीक्षा पूरी होने के बाद छात्रों ने बताया कि केमिस्ट्री का स्तर सरल से मध्यम, फिजिक्स का मध्यम और मैथ्स का स्तर मॉडरेट से टफ रहा।


JEE advanced 2021: विषयवार पेपर का विश्लेषण-

केमिस्ट्री का स्तर: इनऑर्गेनिक केमिस्ट्री से ऑर्गेनिक केमिस्ट्री के प्रश्नों को वेटेज दिया गया था। फिजिकल केमिस्ट्री में लिक्विड सॉल्युशन्स, मोल कंसेप्ट और इलेक्ट्रोकेमिस्ट्री से प्रश्न थे। कक्षा 12 के चैप्टर्स को ज्यादा वेटेज दिया गया था। ऑर्गेनिक केमिस्ट्री के सभी भागों से प्रश्न से वहीं पेपर-1 में इनऑर्गेनिक केमिस्ट्री से सीधे कोई प्रश्न नहीं पूछा गया था।

फिजिक्स का स्तर : पेपर में फिजिक्स का पार्ट मध्यम रहा जिसमें कंसेप्ट आधारित प्रश्न थे और सभी चैप्टर्स को कवर किया गया था। छात्रों ने इस भाग को मध्यम स्तर का बताया है। इसमें तरल पदार्थ, रे ऑप्टिक्स, विद्युत चुम्बकीय प्रेरण, करेंट इलेक्ट्रिसिटी, घूर्णी गति, ऊष्मा और थर्मोडायनामिक्स से प्रश्न पूछे गए थे। मिक्स्ड कंसेप्ट वाले प्रश्नों ने ज्यादा समय लिया।

मैथ्स का स्तर : छात्रों ने इसे मध्यम से कठिन स्तर का बताया। इसमें कैल्कुलस और कोऑर्डिनेट जियोमेट्री (Calculus & Coordinate Geometry) से ज्यादा प्रश्न पूछे गए। इसके अलावा फंक्शन्स, लिमट्स, कॉन्टीन्यूटी एंड डिफिरेंशिएबिलिटी, एप्लीकेशन ऑफ डेरीवेटिव्स आदि से प्रश्न पूछे गए।

(लेखक रमेश बैटलिश FIITJEE नोएडा के हेड हैं। यहां दिए गए विचार उनके निजी हैं।)

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें