DA Image
18 अक्तूबर, 2020|6:01|IST

अगली स्टोरी

JEE 2020: आईआईटी में इंजीनियरिंग से ज्यादा गणित की ओर छात्रों का रुझान

iit delhi  file photo ht

इंजीनियरिंग से ज्यादा अब गणित की ओर छात्रों की रुचि बढ़ रही है। आईआईटी से पढ़ाई करने वाले जेईई एडवांस्ड के टॉप रैंकर कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग के बाद मैथमेटिक्स का चयन कर रहे हैं। यही कारण है कि इंजीनियरिंग की अन्य ब्रांचों में दाखिले लेने वालों की रैंक काफी नीचे है। जेईई एडवांस्ड की रैंक के अनुसार देश की सभी आईआईटी में प्रवेश के लिए काउंसिलिंग प्रक्रिया चल रही है। 

जोसा (ज्वाइंट सीट एलोकेशन अथॉरिटी) की ओर से पहले चरण का सीट एलॉटमेंट कर दिया गया है। इस रिकॉर्ड के अनुसार कंप्यूटर साइंस के बाद गणित के प्रति छात्रों की रुचि है। इसके बाद इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग या अन्य ब्रांच हैं। हर बार की तरह पहली पसंद कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग ही है। दुनिया में प्रतिष्ठित आईआईटी कानपुर की कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग ब्रांच में 111 रैंक वाले छात्र ने सीट लॉक की है। 

वहीं आईआईटी बांबे में 128 रैंक वाले छात्र ने मैथमेटिक्स का चयन किया है। आईआईटी दिल्ली में 156 रैंक और आईआईटी कानपुर में 444 रैंक वाले छात्र ने मैथमेटिक्स में प्रवेश के लिए आवेदन किया है। पिछले कुछ वर्षों में मैथमेटिक्स के छात्रों को मिल रही अच्छे पैकेज पर जॉब का यह असर है।

जेईई एक्सपर्ट मनोज शर्मा ने बताया कि वर्तमान में सभी रिसर्च एनालिसिस पर हो रही है। डाटा साइंस की मांग पूरी दुनिया में बढ़ी है। इसलिए मैथमेटिक्स एंड साइंटिफिक कंप्यूटिंग की अधिक मांग है। इसका उपयोग हर सेक्टर में किया जा रहा है। इसलिए जानकार बच्चे कंप्यूटर साइंस के बाद इसका चयन कर रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:JEE 2020: trend of students towards mathematics more than engineering in IITs